ताजा खबरेंबिहार

14 किलोमीटर रफ्तार से चल रही बर्फ़ीली हवाओं से काँपा बिहार, 6 डिग्री के साथ गया सबसे ठंडा कुहासे में लिपटी

Advertisements
Ad 4

पटना(अजीत यादव): देश के पशिमी हिस्सों में भारी बर्फबारी के चलते पूरे बिहार में 14 किलोमीटर की रफ्तार से बर्फीली हवा चल रही है जिसने प्रदेश को कँपा कर रख दिया है।कश्मीर से बर्फीली और राजस्थान की ओर आ रही शुष्क ठंडी हवाओं ने बिहार में ठंड काफी बढ़ गई है. मंगलवार को प्रदेश के 26 जिलों में कोल्ड डे का अलर्ट घोषित किया गया है. इसके साथ ही मंगलवार की सुबह से ही घना कोहरा है. बिहार के गया जिला में सबसे निचे 6 डिग्री टेम्प्रेचर के साथ सबसे ज्यादा ठण्ड पड़ रही है वहीं राजधानी पटना में कुहासा और ठंडी हवाओँ ने लोगो को घरों से निकलना मुहाल कर दिया है। ऐसे में चिकित्सकों और मौसम विभाग ने भी चेतावनी देते हुए लोगो को ठंड में बचने की सलाह दी है। बुजुर्गो और बच्चों के साथ ही डायबिटीज हार्ट बीपी के मरीजो को जरूरी नही हो तो घरों में ही रहने की सलाह दी जा रही है। पटना ( एसएनबी ) । राजधानी समेत पूरे बिहार में भीषण शीतलहर सोमवार को भी जारी रही । सोमवार सबसे ठंडा दिन रहा । लोगों को पलभर के लिए भी धूप के दर्शन नहीं हुए । अधिकतम तापमान जहां 15 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया जा रहा है , वहीं न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है । दूसरी ओर , कुहासा की वजह से दृश्यता सौ से डेढ़ सौ मीटर से भी कम पहुंच गई । इससे यातायात व्यवस्था के ठप होने की स्थिति पैदा हो गई । घना कोहरा और तेज ठंडी हवाओं से लोगों का घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो गया है । सोमवार को यहां का न्यूनतम तथा अधिकतम तापमान सामान्य से भी नीचे बना रहा । तेज ठंडी हवा से ज्यादातर लोग अपने घरों में दबके रहे । सबह देर तक बाजार में सन्नाटा.

प्रदेश के 26 जिलों में कोल्ड अलर्ट-

मौसम विभाग ने प्रदेश के 26 जिलों में कोल्ड अलर्ट जारी किया है. अगले तीन दिनों तक इसी तरह के मौसम बने रहने की संभावना है.पटना में न्यूनतम तापमान 6 डिग्री से नीचे जा पहुंचा है. सोमवार को पटना का न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. तापमान में एकाएक गिरावट होने से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है.

Advertisements
Ad 2

वाहनों के जाम से पटी रहने वाली सड़कें भी सुनसान दिखीं । मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि आने वाले कुछ दिनों तक शीतलहर का कहर बना रहेगा तथा कोहरा और भी घना होगा । राजधानी का अधिकतम तापमान 15.2 डिग्री , न्यूनतम 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया । अभी शीतलहर से लोगों को राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। राजधानी के साथ ही साथ सूबे के अन्य शहरों की भी यही स्थिति बनी रही । सोमवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 15.2 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया । भागलपुर अधिकतम तापमान 21.1 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 10.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया । इसी तरह , गया का अधिकतम तापमान 17.4 तथा न्यूनतम तापमान 6.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया । गौरतलब है कि राजधानी में जारी भीषण शीतलहर के बीच शहर का सबसे कम तापामन का रिकार्ड दो जनवरी 1984 को दर्ज किया गया था । मौसम विभाग के मुताबिक , तब पारा 1.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया । इसी तरह जनवरी माह में सर्वाधिक तापमान का रिकार्ड दो जनवरी 1993 को 33.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

इन जिलों के लिए अलर्ट जारी-

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक पटना, गया, नालंदा, शेखपुरा, बेगूसराय, लखमीपुर, नवादा,पश्चिमी चंपारण, सीवान, सारण, पूर्व चंपारण, गोपालगंज, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर , बक्सर, भोजपुर, रोहतास, कैमूर, औरंगाबाद, जहानाबाद और अरवल में मंगलवार को कोल्ड डे का अलर्ट जारी किया है।

Related posts

आंतरिक मूल्यांकन से एनक्वास व कायाकल्प प्रमाणीकरण की प्रक्रिया को मिलेगी मजबूती

यात्री शेड पर व्यापारियों का कब्जा!

एसडीएम शैलजा पांडे ने निर्माणाधीन योजनाओं का किया जांच