ऐक्टू से जुड़े सुधा डेयरी मजदूरों ने 4 श्रम कोड की प्रतियों को जलाया

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): बुधवार को मज़दूरों को गुलाम बनाने वाली 4 श्रम कोड ,3 कृषि कानूनों को रद्द करने,12 घण्टा कार्य दिवस आदेश,बजट 2021 में सभी मजदूरों को समुचित लाॅकडाउन राहत देने, असंगठित मजदूरों को न्यूनतम मजदूरी, स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने,चाैतरफा बेरोजगारी, छंटनी पर रोक लगाने, हर हाथ को काम व काम का पूरा दाम देने की मांग को लेकर आज ऐक्टू के देशव्यापी आह्वान पर इससे जुड़े पटना जिला निजी वाहन चालक एवं कर्मचारी यूनियन के सैकड़ो मजदूरों ने सुधा डेयरी मुख्य गेट से प्रदर्शन निकाला और फुलवारी मुख्य सड़क पहुंचकर 4 श्रम कोड आदेश की प्रतियों को जलाया और 4 श्रम कोड व 3 कृषि कानून सहित सभी काले आदेशों को रदद् करने की मांग की। इस मौके पर मौजूद स्थानीय विधायक गोपाल रविदास ने कहा कि सुधा डेयरी के मजदूरों की समस्याएं विधानसभा में उठाएंगे।विधायक ने कहा कि एक भी मजदूर राशन कार्ड ,और जरूरतमंद वृद्धा पेंशन लाभ से छूटे नहीं इसके लिए उन्होंने फुलवारी अंचलाधिकारी से बात किया है इसलिए जितने भी सुधा डेयरी मजदूर है वे राशन कार्ड अवश्य बनबाएँ.

ऐक्टू का 1 से 15 फरवरी तक चलने वाले देशव्यापी अभियान के तहत इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया. फुलवारीशरीफ स्थित सुधा डेयरी में दूध की सप्लाई से जुड़े सैंकड़ो मजदूरों ने यूनियन अध्यक्ष सह ऐक्टू सचिव रणविजय कुमार,महासचिव मनीष कुमार निनी,रंजीत कुमार,सुनील कुमार के नेतृत्व में डेयरी गेट से जुलूस निकाल फुलवारी शरीफ मुख्य सड़क पर 4 श्रम कोड आदेश की प्रतियों को जलाया और मोदी तथा नीतीश सरकार विरोधी नारा लगाया.

इस दौरान डेयरी मजदूरों ने मजदूर-किसानों, गरीबों का विधायक गोपाल रविदास की मौजूदगी में डेयरी मजदूरों को ईपीएफ-इएसआई की सुविधा, उपचालक को अर्द्ध कुशल श्रेणी का मजदूरी भुगतान लागू क्यों नही प्रबंधन जवाब दो,बोनस व परिचय पत्र देना होगा का नारा लगाया। मौके पर महासचिव मनीष कुमार निनी,उपाध्यक्ष रंजीत कुमार,सुनील कुमार ने माला पहना कर विधायक गोपाल रविदास का अभिनंदन किया औऱ सभा को सम्बोधित कर मजदूरों की समस्या बताया।