बिहार

गुणात्मक सेवाओं के लिए स्वास्थ्य कर्मियों का नियमित प्रशिक्षण व उत्साहवर्द्धन जरूरी

अररिया, रंजीत ठाकुर जिलेवासियों को राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने की दिशा में विभागीय स्तर से जरूरी प्रयास किया जा रहा है। इस क्रम में राष्ट्रीय क्वालिटी एश्योरेंस स्टेंडर्ड यानी एनक्वास के निर्धारित मानकों के अनुरूप सदर अस्पताल का संचालन सुनिश्चित कराने की कवायद जारी है। एनक्वास प्रमाणीकरण को लेकर विभिन्न स्तरों पर जरूरी प्रयास किये जा रहे हैं। ताकि अगले कुछ महीनों के अंदर एनक्वास प्रमाणीकरण हासिल किया जा सके। एनक्वास प्रमाणीकरण को लेकर किये जा रहे प्रयासों का निरीक्षण करने व इसे गति प्रदान करने के उद्देश्य से बुधवार को पिरामल स्वास्थ्य के राष्ट्रीय बाह्य आकलनकर्ता डॉ चंद्रकांत शेरखाने ने अस्पताल के संबंधित विभागों का जायजा लिया. इस क्रम में उन्होंने सेवाओं की बेहतरी को लेकर संबंधित अधिकारियों को जरूरी सुझाव दिया। साथ ही विभागीय अधिकारी व कर्मियों के साथ बैठक करते हुए उनके क्षमतावर्द्धन व विश्वास बहाली प्रक्रिया की मजबूती को लेकर विस्तृत चर्चा की। मौके पर डॉ जीतेंद्र प्रसाद, डॉ स्नेहा किरण, डीसीक्यूए डॉ. मधुबाला सहित संबंधित विभिन्न विभागों के नोडल अधिकारी व स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

कर्मियों के क्षमतावर्द्धन के लिये नियमित प्रशिक्षण जरूरी

दो दिवसीय निरीक्षण कार्यक्रम के पहले दिन राष्ट्रीय आकलनकर्ता डॉ चंद्रकांत शेरखाने ने अस्पताल के पैथोलोजी डिपार्टमेंट, ओपीडी सहित संबंधित अन्य विभागों का निरीक्षण किया। इस क्रम में उन्होंने विभिन्न तकनीकी पहलूओं पर चर्चा करते हुए संबंधित कर्मियों को जरूरी सुझाव दिये. अधिकारी व कर्मियों के आयोजित बैठक में उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मियों के क्षमतावर्द्धन व विश्वास बहाल करने के लिये नियमित प्रशिक्षण को जरूरी बताया. ताकि कर्मियों में क्वालिटी हेल्थ सर्विस को लेकर बेहतर समझ विकसित हो सके. स्वास्थ्य कर्मी व मरीजों की सुरक्षा को सर्वोपरी बताते हुए उनहोंने आपदा प्रबंधन, फायर सेफ्टी सहित अन्य सुरक्षा संबंधी इंतजामों की मजबूती को लेकर जरूरी पहल करने का सुझाव स्वास्थ्य अधिकारियों को दिया. पिरामल स्वास्थ्य के पीएम डॉ सनोज ने बताया कि सदर अस्पताल में उपलब्ध चिकित्सकीय इंतजाम को एनक्वास मानकों के अनुरूप संचालित करने की कवायद की जा रही है. बहुत जल्द प्रमाणीकरण के लिये विभाग को आवेदन समर्पित किया जायेगा.

Advertisements
Ad 2

सेवाओं को उत्कृष्ट बनाना प्रमाणीकरण का उद्देश्य


सदर अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डॉ आकाश कुमार ने बताया कि चिकित्सकीय सेवाओं को उत्कृष्ट बनाने के उद्देश्य से एनक्वास प्रमाणीकरण जरूरी है. इसलिये सदर अस्पताल में गुणात्मक सेवाओं की उपलब्धता पर विशेष जोर दिया जा रहा है. ताकि हम एनक्वास प्रमाणीकरण प्राप्त करने में सक्षम हो सकें. अस्पताल प्रबंधक विकास आनंद ने बताया कि प्रथम चरण में एनक्वास प्रमाणीकरण को लेकर अस्पताल के प्रसव वार्ड, लेबर रूम, इमरजेंसी, पीकू वार्ड एसएनसीयू, ब्लड बैंक, एनआरसी, ओपीडी, लेबोरेट्री सहित अन्य विभाग को शामिल किया गया है. उन्होंने जल्द ही प्रमाणीकरण प्रमाणपत्र हासिल होने के प्रति अपना विश्वास जाहिर किया।

Related posts

बेगूसराय में एक ही परिवार के चार बच्चों की डुबने से हुई मौत!

कार्य में लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों पर होगी सख्त कार्रवाई : मुख्यमंत्री

उपविकास आयुक्त के अध्यक्षता में कार्यों की समीक्षा बैठक आहूत की गई