बिहार

डीएम व एसएसपी द्वारा पुनपुन अंतर्राष्ट्रीय पौष खरमास मेला की तैयारियों की समीक्षा की गई

पटना, न्यूज क्राइम 24। जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह एवं वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना श्री राजीव मिश्रा द्वारा आज पुनपुन अंतर्राष्ट्रीय पौष खरमास मेला, 2023 की तैयारियों की समीक्षा की गई। यह मेला दिनांक 16 दिसम्बर, 2023 से 14 जनवरी, 2024 तक चलेगा। समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में आयोजित इस बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी, मसौढ़ी द्वारा मेला के सफल आयोजन हेतु पीपीटी के माध्यम से तैयारी से संबंधित विवरणी प्रस्तुत किया गया।

डीएम व एसएसपी द्वारा पौष खरमास मेला के दौरान आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों के लिए पेयजल, शौचालय एवं चेंजिंग रूम, साफ-सफाई, विद्युत आपूर्ति, यातायात एवं परिवहन, रेलवे संबंधित सुविधा, पर्यटन संबंधी व्यवस्था, आवासन, सुरक्षा व्यवस्था, हेल्प डेस्क काउंटर, विधि-व्यवस्था सहित सभी पहलुओं पर एक-एक कर समीक्षा की गई तथा आवश्यक निदेश दिया गया। अधिकारीद्वय द्वारा मेला आयोजन समिति/पंडा समिति के प्रतिनिधियों से भी वार्ता की गयी तथा प्राप्त सुझावों पर नियमानुसार कार्रवाई करने का निदेश अधिकारियों को दिया।

डीएम डॉ. सिंह व एसएसपी श्री मिश्रा ने कहा कि पुनपुन अन्तर्राष्ट्रीय पौष खरमास मेला में नेपाल सहित देश-विदेश से हजारों की संख्या में तीर्थयात्री एवं पर्यटक पहुँचते हैं। उत्कृष्ट भीड़-प्रबंधन, सुचारू यातायात तथा सुदृढ़ विधि-व्यवस्था संधारण प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसके प्रति सभी स्टेकहोल्डर्स को तत्पर एवं मुस्तैद रहना होगा। सम्बद्ध सभी विभागों के पदाधिकारियों को आपस में समन्वय करते हुए मेला का सफल आयोजन सुनिश्चित करना होगा। पर्यटन, राजस्व, रेलवे, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण प्रमण्डल, नगर पंचायत, आपदा प्रबंधन, अग्निशमन, यातायात, परिवहन सहित सभी विभागों को दायित्वों का समुचित निर्वहन करना होगा।

डीएम डॉ. सिंह ने पदाधिकारियों को त्रुटिहीन व्यवस्था सुनिश्चित करने का निदेश दिया। वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा ने सुदृढ़ सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने का निदेश दिया।

Advertisements
Ad 2

डीएम डॉ. सिंह व एसएसपी श्री मिश्रा ने कहा कि अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, मसौढ़ी मेला के सफल आयोजन हेतु नोडल पदाधिकारी रहेंगे। दोनों अधिकारी नियमित तौर पर अनुश्रवण करेंगे।

  • साफ-सफाई -डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं की सुख-सुविधा के दृष्टिगत सम्पूर्ण मेला परिसर, पूजा स्थल एवं आवासन स्थल के आस-पास पूरे मेला अवधि के दौरान साफ-सफाई की बेहतर सुविधा रहनी चाहिए। इस हेतु साफ-सफाई एवं फॉगिंग की व्यवस्था प्रतिदिन 03 पालियों में की जाए। इसके लिए अतिरिक्त यूरिनल, डस्टबीन तथा महिलाओं एवं पुरूषों हेतु अलग-अलग वॉशरूम आदि की व्यवस्था सुनिश्चित रखें। डीएम डॉ. सिंह ने नगर पंचायत, पुनपुन के कार्यपालक पदाधिकारी को यह सुनिश्चित कराने का निदेश दिया।
  • पेयजल -डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि पौष खरमास मेला के अवसर पर पेयजल की समुचित व्यवस्था रहनी चाहिए। उन्होंने अनुमण्डल पदाधिकारी को पीएचईडी की सहायता से मेला परिसर में प्रमुख स्थानों यथा बस स्टैंड, पार्किंग स्थल, नियत्रंण कक्ष तथा पूजा स्थल के आस-पास पेयजल की आपूर्ति हेतु वाटर टैंक, वाटर एटीएम, जलदूत की प्रतिनियुक्ति सुनिश्चित करने का निदेश दिया। स्थायी रूप से लगे चापाकलों की मरम्मति एवं शुद्ध पानी की आपूर्ति हेतु चापाकलों में हैलोजन टैबलेट की आपूर्ति की जाए।
  • शौचालय एवं चेंजिंग रूम -डीएम डॉ. सिंह ने सम्पूर्ण मेला अवधि के दौरान आगन्तुक श्रद्धालुओं की सुख-सुविधा के दृष्टिगत मेला परिसर में पूर्व से निर्मित स्थायी शौचालय के अतिरिक्त घाटों पर अस्थायी चेंजिंग रूम का निर्माण, शौचालयों की नियमित साफ-सफाई हेतु सफाई कर्मियों की प्रतिनियुक्ति करने का निदेश दिया।
  • चिकित्सा व्यवस्था- डीएम डॉ. सिंह ने सिविल सर्जन, पटना को राउंड द क्लॉक सुदृढ़ चिकित्सा सुनिश्चित करने का निदेश दिया। मेला अवधि के दरम्यान आकस्मिक स्थिति से निपटने हेतु 24*7 पालीवार चिकित्सक एवं पारा मेडिकल कर्मी की प्रतिनियुक्ति, जीवनरक्षक दवा एवं एबुलेंस की व्यवस्था, ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव, मेडिकल सहायता केन्द्र के प्रचार-प्रसार हेतु फ्लैक्स एवं बैनर की व्यवस्था रहेगी।
  • विधि व्यवस्था- डीएम डॉ. सिंह व एसएसपी श्री मिश्रा ने कहा कि मेला के दरम्यान विधि-व्यवस्था संधारण हेतु दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी तैनात रहेंगे। अस्थायी नियंत्रण कक्ष एवं मे आई हेल्प यू काउंटर सक्रिय रहेगा। सीसीटीवी के द्वारा निगरानी की जाएगी। क्यूआरटी सक्रिय रहेगा।
  • विद्युत व्यवस्था -डीएम डॉ. सिंह ने विद्युत कार्यपालक अभियंता को मेला अवधि में 24 घंटे निर्बाध रूप से विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निदेश दिया। मेला परिसर, घाट, टेंपू स्टैंड, हाट एवं पार्किंग स्थल आदि स्थानों पर जर्जर विद्युत पोल एवं तारों की जॉंचोपरांत मरम्मति, विद्युत की वैकल्पिक व्यवस्था, पूर्व से अधिष्ठापित एलईडी हाई मास्ट लाईट को क्रियाशील रखने का निदेश दिया गया।
  • आपदा प्रबंधन- डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि वर्तमान में पुनपुन नदी का जलस्तर सामान्य है। फिर भी सुरक्षा के दृष्टिगत आवश्यक कार्रवाई अपेक्षित है। एनडीआरएफ/एसडीआरएफ टीम की इनफ्लेटेबुल बोट के साथ प्रतिनियुक्ति, नाविक एवं गोताखोर की प्रतिनियुक्ति रहेगी। अपर समाहर्ता, आपदा प्रबंधन द्वारा बताया गया कि 02 बोट, डीप गोताखोर, लाईफ जैकेट, लाईफ ब्याय सभी संसाधन सहित जवानों की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिलाधिकारी द्वारा बढ़ते ठंड के मद्देनजर मेला स्थल एवं आस-पास अलाव की व्यवस्था करने का निदेश दिया गया।
  • अग्निशमन- सुरक्षा एवं विधि व्यवथा के दृष्टिगत मेला अवधि के दरम्यान मेला परिसर में पर्याप्त संख्या में ‘‘फायर बिग्रेड टीम’’ की प्रतिनियुक्ति, अग्निशमन वाहन की उपलब्धता जिला अग्निशमन पदाधिकारी सुनिश्चित करेंगे।
  • पार्किंग- अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि मेला अवधि के दरम्यान आने वाले छोटे-बडे़ वाहनों के ठहराव/पार्किंग हेतु स्थल चिन्हित किया गया है। डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि पार्किंग स्थल के पास सुरक्षा एवं विधि व्यवस्था के दृष्टिकोण से पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति एवं अन्य आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित रखें। रेलवे सुविधा- मेला के अवसर पर काफी संख्या में श्रद्धालु एवं पर्यटकगण का आगमन रेलमार्ग द्वारा भी होता है।
  • स्थानीय समाजसेवियों एवं पंडा समिति के सदस्यों द्वारा बताया गया कि सुरक्षा के दृष्टिगत पुनपुन रेलवे स्टेशन एवं नदी घाट रेलवे हॉल्ट पर आवश्यक प्रबंध रहना चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि अनुमंडल पदाधिकारी रेलवे से समन्वय कर नियमानुसार कार्रवाई करेंगे।

पर्यटन सुविधा – मेला के अवसर पर देश-विदेश से आगन्तुक पर्यटकों की सुविधा हेतु बिहार के पर्यटकीय स्थलों का व्यापक प्रचार-प्रसार एवं अन्य पर्यटन संबंधी जानकारियों के लिए मेला परिसर में अस्थायी पर्यटन स्टॉल एवं पर्यटक सहायता-सह-सुविधा केन्द्र का निर्माण पर्यटन विभाग द्वारा किया जाता है।

डीएम डॉ. सिंह व एसएसपी श्री मिश्रा ने कहा कि सभी पदाधिकारी मेला के सफल आयोजन हेतु तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहेंगे।

इस बैठक में जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक के साथ नगर पुलिस अधीक्षक, अपर समाहर्त्ता विशेष कार्यक्रम, अपर जिला दण्डाधिकारी आपूर्ति, अपर समाहर्ता आपदा प्रबंधन, अनुमंडल पदाधिकारी मसौढ़ी, तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंता एवं अन्य भी उपस्थित थे।

Related posts

गलत के खिलाफ उठाए आवाज और जागरूक होकर बच्चों को सही राह दिखाएं मुस्लिम महिलाएं : बुशरा रहमान

सौ बेड का हो गया कर्मचारी राज्य आदर्श बीमा अस्पताल

भूमि विवाद में जम कर चली गोली, गिरा दिया चहारदीवारी

error: