बिहार

कोविड-19 संक्रमण को लेकर लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत

पूर्णिया, न्यूज क्राइम 24। 21 दिसंबर। कोविड-19 संक्रमण एक बार फिर से अपना पैर फैला रहा है। देश के कुछ हिस्सों में कोविड केस देखे जा रहे हैं। ऐसे में लोगों को फिर से कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत सुविधाओं का ध्यान रखने की जरूरत है। लोगों की एक गलती से ही वे कोविड संक्रमित हो सकते हैं। किसी भी व्यक्ति के कोविड संक्रमित होने की स्थिति में उनके परिवार के साथ साथ आसपास के लोगों को भी कोविड ग्रसित होने की संभावना रहती है। ऐसे में लोगों को फिर से कोविड-19 से सुरक्षा के लिए कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान रखने की जरूरत है। जिससे लोग कोविड होने से सुरक्षित रह सकते हैं।

कोविड केस से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से तैयार :

कोविड के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग भी इससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। सिविल सर्जन डॉ अभय प्रकाश चौधरी ने बताया कि पिछले एक साल से जिले में कहीं भी कोविड के केस नहीं देखे गए हैं। लेकिन ऐसी स्थिति में भी जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में नियमित कोविड-19 जांच जारी है। सभी प्रखंड के स्वास्थ्य केंद्रों में आरटीपीसीआर किट्स उपलब्ध हैं। वहां किसी भी संक्रमण से ग्रसित मरीजों की पहचान होने पर उनकी कोविड जांच भी करायी जाती है। कोविड नहीं होने की स्थिति में भी हर दिन जिले में दो सौ से तीन सौ कोविड जांच नियमित हो रही है। देश में कोविड की संभावना को देखते हुए सभी स्वास्थ्य केंद्रों में आरटीपीसीआर जांच की संख्या को बढ़ाने का निर्देश दिया गया है। साथ- साथ सभी स्वास्थ्य केंद्रों में ऑक्सीजन सुविधा भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। जिससे मरीज के उपस्थित होने पर उनका इलाज आसानी से किया जा सकता है।

भीड़भाड़ वाली जगह में लोगों का सुरक्षित रहना जरूरी :

Advertisements
Ad 2

सिविल सर्जन ने बताया कि अभी क्रिसमस और नए साल की छुट्टी होने वाली है। ऐसे समय में लोग सैर-सपाटे के लिए परिवार के साथ बाहर निकलते हैं। बढ़ रहे कोविड केस को देखते हुए लोगों को इसके लिए भी सतर्कता बरतने की जरूरत है। भीड़भाड़ वाले जगह में अगर कोई एक व्यक्ति भी कोविड संक्रमित रहा तो उससे बहुत से लोग संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं। उसके साथ उनके आसपास के लोग भी संक्रमित होंगे। इसलिए लोगों को छुट्टी के समय में कोविड-19 प्रोटोकॉल का ध्यान रखना चाहिए। बाहर निकलते समय पूरी तरह से मास्क का उपयोग करने के साथ लोगों से हाथ मिलाने से बचना चाहिए। इसके अलावा किसी भी बाहरी चीज को छूने से परहेज करते हुए हाथों में नियमित रूप से सैनिटाइजर का उपयोग करना चाहिए। इससे लोगों के संक्रमित होने की संभावना कम हो जाती और वे कोविड-19 से सुरक्षित रह सकते हैं।

सभी अस्पतालों में है ऑक्सीजन की व्यवस्था :

जिला एपिडेमियोलॉजिस्ट नीरज कुमार निराला ने बताया कि कोविड-19 से निपटने के लिए जिले के सभी अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की व्यवस्था है। कोविड संक्रमित होने पर किसी भी व्यक्ति को पहले घर में आइसोलेट किया जाएगा। ज्यादा संक्रमित होने पर ही मरीजों को अस्पताल में भर्ती करते हुए उनका इलाज किया जाएगा। अस्पताल में सभी डॉक्टर्स और स्टाफ द्वारा पहले से कोविड मरीजों का इलाज किया जा चुका है। जिससे कि उन्हें मरीजों की स्थिति के अनुसार तत्काल सुविधा उपलब्ध कराने की जानकारी है। ऐसे में मरीजों को अस्पताल में कोविड का इलाज आसानी से किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि कोविड के साथ साथ पूर्णिया जिला प्रदूषण से भी ग्रसित हो रहा है। ऐसे में सभी लोगों को नियमित रूप से मास्क का प्रयोग जरूर करना चाहिए। इससे वे कोविड के साथ प्रदूषण से होने वाली बहुत से बीमारियों से सुरक्षित रह सकते हैं।

Related posts

गलत के खिलाफ उठाए आवाज और जागरूक होकर बच्चों को सही राह दिखाएं मुस्लिम महिलाएं : बुशरा रहमान

सौ बेड का हो गया कर्मचारी राज्य आदर्श बीमा अस्पताल

भूमि विवाद में जम कर चली गोली, गिरा दिया चहारदीवारी

error: