देर रात्रि मध्य विद्यालय के भवन को तोड़े जाने से पदाधिकारीयों ने की जांच

 देर रात्रि मध्य विद्यालय के भवन को तोड़े जाने से पदाधिकारीयों ने की जांच

अररिया(रंजीत ठाकुर): फारबिसगंज प्रखंड मुख्यालय के सामने स्थित धत्ता टोला मध्य विद्यालय के भवन को देर रात तोड़े जाने के मामले में मंगलवार को अपर समाहर्ता अररिया के नेतृत्व में अनुमंडल पदाधिकारी सुरेंद्र कुमार अलवेला, फारबिसगंज के अध्यक्षता में कार्यपालक अभियंता भवन प्रमंडल, जिला अवर निबंधक पदाधिकारी जिला नीलाम पत्र पदाधिकारी के गठित टीम के द्वारा उक्त स्थल पर पहुंचकर जांच शुरू की गई जांच उपरांत टीम के द्वारा विद्यालय के जमीन के साथ-साथ ट्रस्ट के द्वारा समर्पित किए गए जमीनों की जानकारी ली गई। इस मौके पर एडीएम अनिल कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया जांच उपरांत पाया गया कि उक्त जगह पर 1957 ईस्वी से विद्यालय अवस्थित है जिसका विद्यालय व्यवस्थापक कालिदास है। अवस्थित विद्यालय को ध्वस्त किया जाना गलत है उन्होंने कहा कि अंचल कार्यालय पदाधिकारी से उक्त जमीन के कागजात की मांग की गई है तथा सभी तथ्यों को देखा जा रहा है। कहा कि ध्वस्त किए जाने के मामले में भी कार्रवाई की जा सकती है। जमीन के स्वामित्व की भी जांच की जा रही है। मौके पर उनके साथ फारबिसगंज प्रखंड विकास पदाधिकारी अमित आनंद सीआई प्रमोद सिंह सहित अमीन मौजूद थे। बतादे
की प्रखंड मुख्यालय से महज 50 गज की दूरी पर अवस्थित उक्त दो मंजिला विद्यालय भवन को भू माफियाओं द्वारा रविवार की देर रात, रात के अंधेरे में ढाह दिया गया जिसको लेकर फारबिसगंज थाना में तीन अलग-अलग आवेदन दिया गया है। जिसमें पहला आवेदन फारबिसगंज प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अजय कुमार के निर्देश पर विद्यालय की प्रधानाध्यापिका मीणा कुमारी ने दिया दिए आवेदन में उन्होंनेअज्ञात लोग खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया है.

वहीं दूसरा आवेदन पंचायत के मुखिया प्रदीप देव ने एसडीओ को दिया है। जिसमें उन्होंने बताया कि मटियारी पंचायत में स्थित मध्य विद्यालय की भूमि को भी मराज पेड़ीवाल चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा दान में दी गयी थी। भूमि पर बने राजकीय मध्य विद्यालय करबला धत्ता के पुराने भवन को 3 जनवरी को जेसीबी लगाकर तोड़ा गया है। आवेदन में पंचायत के मुखिया ने गोपाल अग्रवाल, मटियारी के निवासी स्व. पारस साह के पुत्र बलराम साह पर भवन तोड़ने का आरोप लगाया है। जबकि तीसरा आवेदन पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि जफर आलम ने थाना में दिया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि जमीन हड़पने की नीयत से विद्यालय के सरकारी भवन को क्षतिग्रस्त किया गया है। उप मुखिया ने भी गोपाल अग्रवाल, बलराम साह एवं नरेश प्रसाद साह पर भूमि हड़पने की नीयत से भवन तोड़े जाने का आरोप लगाया है। वही इस मामले में गोपाल अग्रवाल ने घटनाएं सवांददाता से कहा कि उन पर लगाए गए आरोप पूरी तरह बेबुनियाद है। हमें बदनाम किया जा रहा है। मैं खुद समाज के भलाई लिए हमेशा लड़ा हूँ। प्रशासन इस मामले की जांच करें जांच के बाद जो भी कार्रवाई होगी उन्हें स्वीकार है। बता देकि देर रात अज्ञात लोगों द्वारा विद्यालय के 2 मंजिला बिल्डिंग को गिरा दिया गया था। तथा उसी जगह टिन से घेर रखा था। जिसकी सूचना स्थानीय लोगों को अहले सुबह हुई। ग्रामीणों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। सूचना मिलते ही अनुमंडल पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी उक्त जगह पहुंचकर मामले को संज्ञान में लिया। मौके पर मौजूद एसडीओ ने कहा कि जिन लोगों के द्वारा बिल्डिंग ढाया गया है उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी और वे अगर गलत किए हैं तो उसकी गिरफ्तारी भी होगी। इसकी जांच की जाएगी।


There is no ads to display, Please add some

News Crime 24 Desk

Related post