नौबतपुर की नंदनी व फुलवारी के कुसुममाला ने बनाई टॉप 10 में जगह

 नौबतपुर की नंदनी व फुलवारी के कुसुममाला ने बनाई टॉप 10 में जगह
Advertisement
Ad 3
Advertisement
Ad 4
Digiqole Ad

फुलवारीशरीफ(अजीत यादव): बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है। फुलवारी शरीफ के जानीपुर अकबरपुर की कुसुममाला व नौबतपुर की रहने वाली नंदनी ने टॉप 10 में जगह बनाई है,इन्होंने मैट्रिक परीक्षा में 475(95%) अंक लाई है। कुसुममाला जानीपुर के सोरमपुर हाई स्कूल से और नंदनी गवर्मेंट त्रिभुवन उच्च विद्यालय नौबतपुर से पढ़ाई की है। दोनों ही ग्रामीण इलाके से आती है और काफी कम संसाधनों में सरकारी स्कूलों में पढ़ाई कर टॉपर का खिताब हासिल कर ऊंची उड़ान भरने को तैयार है। जानीपुर की कुसुममाला के पिता पूर्व पैक्स अध्यक्ष है और अभी फ़ोटो कॉपी की दुकान चलाते हैं वहीं नौबतपुर की नंदनी के पिता पान की दुकान चलाते हैं।
अपने माता पिता की इकलौती सन्तान कुसुम माला ने बताया कि वह रोजाना छह से सात घंटे पढ़ती थी । इतना अंदेशा था कि टॉप टेन में जरूर आ जाऊंगी । कुसुममाला के टॉप करने की खुशियों में अकबरपुर के ग्रामीणों में भी हर्ष का माहौल रहा। गांव की बिटिया को लोगो ने खूब शुभकामनाएं दी.

Advertisement
GOLU BHAI
Advertisement
MS BAG

कुसुममाला ने बताया कि उसके स्कूल के गणित के शिक्षक अनिरुल हक सायन्स की मनीषा मैम और द यूनिवर्स क्लासेस कोचिंग के सतीश सर के मार्गदर्शन में उसने पढ़ाई की थी। वह आगे चलकर आईएएस बनना चाहती है। माता पिता व शिक्षकों के आशीर्वाद से उसने सफलता हासिल की है। सोरमपुर हाई स्कूल के प्रिंसिपल अमर कुमार ने कहा कि कुसुममाला कुमारी बहुत ही होनहार छात्रा रही है। उसने टॉप कर विद्यालय का नाम पूरे राज्य में रोशन किया है। वहीं सोरमपुर मुखिया राजकुमार एवम जानीपुर थानाध्यक्ष उत्तम कुमार ने भी इलाके की बिटिया कुसुममाला को टॉप करने पर बधाइयां दी है.

Advertisement
Ad 2

वहीं नंदनी की प्रारंभिक शिक्षा नौबतपुर सरस्वती विद्या मंदिर से हुई है साथ ही दसवीं में नौबतपुर के शिक्षण संस्थान VSCM नौबतपुर से हुई है।नंदनी बताती हैं कि उनके पिता जी एक पान का दुकान बाजार के ही चलाते हैं।ये अपने पढ़ाई का श्रेय अपने परिवार के साथ सभी गुरुजनों को देती है और लगातार 8 घण्टे पढ़ाई कर कोरोना काल मे इंटरनेट के माध्यम से ये मुकाम हासिल की है।इनका लक्ष्य है कि ये भविष्य में एक आईएएस ऑफिसर बने इसके इन्होंने अपनी कमर कस ली है।परिवार वाले इनके परीक्षाफल से काफी खुश हैं और इनके भविष्य को लेकर तैयार है।

Digiqole Ad

News Crime 24 Desk

Related post

error: Content is protected !!