संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ायी अपनी सतर्कता

अररिया(रंजीत ठाकुर): जिले में कोरोना संक्रमण के मामलों में वृद्धि के बाद जिला स्वास्थ्य विभाग ने अपनी सतर्कता बढ़ा दी है. विभाग कोरोना जांच व टीकाकरण अभियान को तेज करने के प्रयासों में जुटा है| जिले में गुरुवार को संक्रमण के 45 नये मामले सामने आये हैं| इस तरह सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़ कर 61 हो गयी है| गौरतलब है कि संक्रमण के सभी मामले बीते एक सप्ताह के दौरान सामने आये हैं| इस दौरान संक्रमण की वजह से एक बुजुर्ग महिला की मौत भी हो चुकी है.

विभाग लगातार कर रहा है स्थितियों की समीक्षा
जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जाहिर करते जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम रेहान अशरफ ने कहा पूर्व से जिले में कोरोना के 16 एक्टिव मामले थे | गुरुवार को संक्रमण के 45 नये मामले सामने आये हैं| विभाग लगातार इसकी समीक्षा कर रहा है| समीक्षा के क्रम में अब तक जो तीन तथ्य सामने आये हैं| इसके मुताबिक बाहरी राज्यों से लौट रहे प्रवासियों की सही सूचना विभाग को नहीं मिल पा रही है| अन्यथा लोग सूचना छिपा रहे हैं| इसके अलावा बीते तीन दिनों से सघन जांच अभियान भी बड़ी संख्या में संक्रमितों का पता लगाने में सहायक साबित हुआ है| डीपीएम ने कहा सिविल सर्जन की अगुआई में अद्यतन स्थिति की लगातार समीक्षा की जा रही है| विभाग पूरी तरह ट्रैकिंग , टेस्टिंग पर अपना ध्यान फोकस कर रहा है| इस बात की समीक्षा की जा रही है कि जो नये संक्रमित मरीज मिले हैं क्या वे पहले से बनाये गये कंटेनमेंट जोन से आते हैं| अगर मरीज नये इलाके से आते हैं तो फिर इसे लेकर माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने की तैयारी चल रही है.

इन प्रखंडों में मिले मरीज-

डीपीएम के हवाले से मिली जानकारी मुताबिक गुरुवार को सिकटी प्रखंड में संक्रमण के 03 नये मामले सामने आये हैं|इसी तरह कुर्साकांटा में 08, पलासी प्रखंड में 01, जोकीहाट में 03, अररिया सदर में 06, अररिया पीएचसी में 06, फारबिसगंज में 11, नरपतगंज में 03, भरगामा में संक्रमण के 04 नये मामले सामने आये हैं.

नजदीकी पीएचसी व थाना को दें लौट रहे प्रवासियों की सूचना-

सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना खत्म हो गया ऐसा सोचना लोगों की बड़ी भूल है| कोरोना का मामला बढ़ रहा है| इसलिये संक्रमण से बचाव संबंधी उपायों पर अमल करना लोगों के लिये जरूरी है| आम जिलावासी के लिये नियमित रूप से मास्क का उपयोग व सामाजिक दूरी का ध्यान रखना जरूरी है| उन्होंने कहा अब 1 अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र के तमाम लोग कोरोना का टीका लगा सकते हैं| कोरोना का टीका पूरी तरह सुरक्षित है| इसलिये अपने आस-पास के परिचित लोगों को भी कोरोना का टीका लगाने के लिये प्रेरित करने की जरूरत है| इतना ही नहीं बाहरी राज्यों से लौट रहे लोगों की सूचना स्थानीय पीएचसी, नजदीकी थाना को दें| ताकि उनकी जांच सुनिश्चित करायी जा सके| इससे समाज में कोरोना के फैलाव को नियंत्रित किया जा सकता है.

संक्रमण से बचाव के लिये रखें इन बातों का ध्यान –

1. नियमित समयांतराल पर अपने हाथों की सफाई करें
2. हाथों की सफाई के लिये अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर का उपयोग करें.

3. नियमित रूप से मास्क का सेवन करें
4. लोगों से मेल-मिलाप के समय शारीरिक दूरी का ध्यान रखें
5. बिना वजह भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करें