बिहार

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर निकाली गई भव्य शोभायात्रा

मनेर(आनंद मोहन): कृष्ण जन्माष्टमी, जिसे जन्माष्टमी वा गोकुलाष्टमी के रूप में भी जाना जाता है, एक वार्षिक हिंदू त्योहार है जो विष्णुजी के दशावतारों में से आठवें और चौबीस अवतारों में से बाईसवें अवतार श्रीकृष्ण के जन्म के आनन्दोत्सव के लिये मनाया जाता है।

इस त्योहार के अवसर पर श्री कृष्ण सेवा समिति मनेर के तत्वावधान में भव्य शोभायात्रा निकाली गई। इस शोभायात्रा में हाथी, ऊंट, घोड़े, गाजा बाजा, ढोल नगाड़ों का भरपूर साथ मिला। साथ ही एक सुसज्जित रथ पर रामनगर नई बस्ती स्थित के पी एस स्कूल के छात्राओं ने भगवान श्री कृष्ण व राधा की अद्भुत छटा बिखेरते नज़र आईं।

Advertisements
Ad 2

इस संदर्भ में प्राचीन देवी मंदिर के पुजारी लाल बाबा कहते हैं कि हिंदू पुराण में भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के दिन रखे जाने वाले व्रत की अपार महिमा बताई गई है। ऐसी मान्यता है कि कृष्ण जन्माष्टमी का व्रत करने से 20 करोड़ एकादशी का फल मिलता है। जन्माष्टमी का व्रत रखने से व्यक्ति को अकाल मृत्यु और पाप कर्मों से मुक्ति मिलती है व मोक्ष की प्राप्ति होती है। शोभा यात्रा दुर्गा मंदिर पेट्रोल पंप से प्रारंभ हुई और गांधी मैदान, पड़ाव पर, गांधी हाट मोड़, जमीर गंज बाजार पर, कोठी पर, ब्रजनंदन नगर, सत्येंद्र नगर, महादेव स्थान, चारहजार मुहल्ला, रसूलपुर, अस्पताल पर,बड़ी चौराहा, नासिरगंज, कटहरा मुहल्ला, चौराहा पर,तिवारी टोला मोड़, चांदनी चौक, रस्तोगी मुहल्ला मोड़,गौहर अली मस्जिद, काजी मुहल्ला, पैठान टोली, मिराचक मोड़, पूलपर, सराय मुहल्ला, ठाकुरबाड़ी , मेहता मार्केट होते हुए पूरे नगर का भ्रमण करते हुए पुनः आरम्भिक स्थल पर आकर विसर्जित हुई।

शोभायात्रा में शामिल सभी युवाओं का श्री कृष्ण सेवा समिति के अध्यक्ष मोनू माया ने धन्यवाद ज्ञापन किया। यात्रा को सफल बनाने मे गोपाल त्यागी, चंदन कुमार, रंजन कुमार, मनीष कुमार, राहुल ज्योतिष, राजेश, सन्नी, मणि, धर्मेन्द्र, पिंटू, प्रमोद कुमार, राहुल मेहता, सुजीत, मुकेश, रूपेश का सराहनीय योगदान दिया।

Related posts

भीषण गर्मी और लू को लेकर फिर बदला पटना के स्कूलों का समय

बसमतिया पुलिस व एसएसबी जवान ने संयुक्त अभियान चलाकर गाजा के साथ तस्कर को किया गिरफ्तार!

फुलकाहा एसएसबी के जवानों ने 48 किलो गाजा के साथ अपाचे बाइक किया जप्त, तस्कर अंधेरे का लाभ उठा कर भाग गया