न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगी जीएनएम अभ्यर्थी : आप

पटना: नर्स बहाली में आवेदन से वंचित जीएनएम छात्राएं अब न्यायालय का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर रही हैं। इस मुद्दे पर आम आदमी पार्टी खुलकर छात्राओं के पक्ष में खड़ी हो गई है. छात्राओं ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे पर नर्स बहाली में घोटाला एवं सीट बेचने की मंशा रखने का आरोप लगाते हुए कहा कि नर्स बहाली में स्वास्थ्य मंत्री जान-बूझकर अन्य राज्यों के सत्र 2016-19 के अभ्यर्थियों को मौका दे रहे हैं, पर बिहार में उसी सत्र में पढ़ने वाली छात्राओं को आवेदन का मौका नहीं दे रहे हैं। छात्राओं ने स्वास्थ्य मंत्री पर अन्य राज्यों का पक्षधर बताते हुए कोर्ट में उन्हें देख लेने की बात कही.

बीते 19 जनवरी को इस मामले में मुख्यमंत्री सचिवालय में प्रदर्शन कर रहे आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता बबलू प्रकाश समेत आधा दर्जन जी एन एम छात्राओं को गिरफ्तार कर लिया गया था। राज्य सरकार से निराश छात्राएं अब न्यायालय में सरकार के खिलाफ मुकदमा करेंगी। बबलू प्रकाश ने कहा कि आम आदमी पार्टी इस मुद्दे को जीतने तक छात्राओं के पक्ष में मुस्तैदी से संघर्ष करेगी.

दरअसल मामला यह है कि पीएमसीएच, एनएमसीएच, एसकेएमसीएच, डीएमसीएच की 2016-19 सत्र की जीएनएम (नर्सिंग) की छात्राओं का सत्र के अनुसार अब तक रिजल्ट आ जाना चाहिए था और वे बिहार स्वास्थ्य समिति द्वारा नर्स की बहाली के लिए निकाली गई रिक्तियों के लिए आवेदन कर पातीं। किंतु सत्र विलम्ब होने के कारण उनकी जो फाइनल परीक्षा अक्टूबर 2019 में हो जानी चाहिए थी, वह दिसम्बर 2020 में हुई है। छात्राओं का कहना है कि सत्र विलम्ब से चलने के लिए सरकार एवं विभाग दोषी है। स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड से लोन लेकर छात्रों ने पढ़ाई की है । अतः उन्हें भी नर्स बहाली में आवेदन का मौका मिलना चाहिए। इसके लिए सत्र 2016-19 की बिहार की जो छात्राएं अंतिम वर्ष की परीक्षा दे चुकी हैं, उन्हें भी आवेदन के लिए योग्य किया जाना चाहिए या फिर आवेदन की अंतिम तिथि को तब तक के लिए बढ़ाया जाना चाहिए जब तक कि सत्र 2016-19 की छात्राओं का परिणाम न प्रकाशित हो जाए.

आप प्रवक्ता बबलू प्रकाश का कहना है कि बिहार में राज्य स्वास्थ्य समिति ने ग्रेड ‘ए’ नर्स पद के लिए जो बहाली निकाली है उसके लिए सत्र 2016-19 में अन्य राज्यों से जीएनएम कोर्स पढ़ने वाली छात्राओं को भी आवेदन का मौका मिलेगा, और वे आवेदन कर पाने में इसलिए सक्षम हैं क्योंकि उन राज्यों में समय पर परीक्षाएं हुईं और समय पर रिजल्ट आ गया। किंतु बिहार के कॉलेजों से सत्र 2016-19 में जीएनएम कोर्स कर रही हजारों छात्राएं सिर्फ इसलिए आवेदन नहीं कर पा रही हैं क्योंकि सरकारी लापरवाही में सत्र विलम्ब से चल रहा है। बबलू ने कहा कि ऐसी परिस्थिति में छात्राओं की मांग जायज है कि उन्हें भी आवेदन करने का विकल्प उपलब्ध कराया जाए.

इस मामले में आप के राज्य सभा सांसद संजय सिंह ने भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर इन छात्राओं को आवेदन के लिए योग्य करने का कोई विकल्प निकालने का आग्रह किया है. आप प्रवक्ता बबलू प्रकाश ने कहा कि कोर्ट में सरकार की हार होगी और बिहार की छात्राएं जितेंगी. प्रेस वार्ता में प्रदेश उपाध्यक्ष मनोज कुमार, प्रदेश प्रवक्ता गुल्फिंसा यूसुफ, मीडिया प्रभारी मृणाल राज, सुयश कुमार ज्योति, कृष्ण मुरारी गुप्ता, जीएनएम अभ्यर्थी छात्र प्रतिनिधि वंदना कुमारी, रवि रंजन कुमार, कुंदन कुमार, शिवम राज, सौरभ कुमार, राहुल शर्मा रहे।