कोरोना ने ताज महोत्सव के आयोजन पर लगाया ब्रेक, टूटी 30 साल की परंपरा

आगरा: दुनिया भर में आकर्षण का केंद्र रहने वाला ताज महोत्सव इस बार कोरोना संक्रमण के कारण नहीं हो रहा है. इस महामारी को देखते हुए जिला प्रशासन ने यह फैसला लिया है. कोरोना वायरस संक्रमण के कारण इस बार 18 से 27 फरवरी तक आगरा में ताज महोत्सव नहीं होगा. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण बीते वर्ष आगरा से ही शुरू हुआ था। इसी कारण प्रदेश सरकार ने इस बार किसी भी बड़े महोत्सव के आयोजन को लेकर बेहद सतर्कता बरती है। आगरा का ताज महोत्सव भी कोरोना वायरस के कहर तथा इसके नये स्ट्रेन के कारण स्थगति कर दिया गया है। आगरा में पहले 18 से 27 फरवरी तक ताज महोत्सव का आयोजन होना था.

30 साल की टूटेगी परंपरा-

दस दिनी महोत्सव महोत्सव का आयोजन इस बार नहीं होगा। कोरोना के चलते प्रशासन ने ताज महोत्सव का आयोजन रद्द कर दिया है। 30 वर्ष में यह पहली बार होगा की ताज महोत्सव का आयोजन नहीं होगा। इसका स्थगित होना पर्यटकों के साथ-साथ व्यापारियों के लिए भी बड़ा झटका है। दस दिनी महोत्सव में हमेशा पर्यटकों के साथ बड़ी संख्या में व्यापारी आगरा में एकत्र होते थे। दुनियाभर से पर्यटक हर वर्ष आगरा में ताजमहल का दीदार करने आते हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लम्बे लॉकडाउन के बाद कोविड प्रोटोकॉल के कारण करीब दस महीने से यहां पर पर्यटकों का आना बंद है। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर बंदिश के कारण भी यहां का पर्यटन उद्योग काफी प्रभावित हो गया है।