आक्रोशित ग्रामीणों नें बछवाड़ा पुलिस को खदेड़ कर भगाया!

 आक्रोशित ग्रामीणों नें बछवाड़ा पुलिस को खदेड़ कर भगाया!
Advertisement
Ad 3
Advertisement
Ad 4
Digiqole Ad

बछवाड़ा(राकेश यादव): बेगूसराय थाना क्षेत्र के चिरंजीवीपुर गांव के समीप शुक्रवार की सुबह विधुत विभाग की लापरवाही के खिलाफ ग्रामीणों ने एन एच 28 सड़क जाम कर विधुत विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बताते चलें कि चिरंजीवीपुर गांव के समीप ग्यारह हजार वोल्ट विधुत की तार एनएच 28 के एक तरफ से दुसरी तरफ आर-पार किया गया है। एनएच 28 से आने-जाने वाले ट्रक समेत अन्य बड़ी वाहन ग्यारह हजार विधुत तार के सम्पर्क में आ जाता है। जिससे हमेशा जान माल का खतरा बना रहता है। बछवाड़ा विधुत सव स्टेशन के अन्तर्गत कार्य कर रहे चिरंजीवीपुर गांव निवासी मानव बल अशोक मालाकार का 26 वर्षीय पुत्र साजन कुमार ने विद्युत विभाग के पदाधिकारी के निर्देश पर एक अन्य सहयोगी चिरंजीवीपुर गांव निवासी स्व सीताराम दास का 36 वर्षीय पुत्र दिलीप दास के साथ एनएच 28 पर लटके विधुत तार को उपर उठाने के लिए कार्य शुरु किया। बछवाड़ा विधुत पावर स्टेशन से सट-डाउन लेकर ग्यारह हजार वोल्ट के पोल पर चढ़कर जैसे ही विधुत का एक तार खोलकर कार्य शुरु किया। वैसे हीं ग्यारह हजार विधुत तार में बिजली प्रवाहित होने लगा। विधुत प्रवाहित होते ही मानव बल समेत दोनों सहयोगीयों को बिजली का झटका लगा। बिजली का झटका लगते हीं दोनों मिस्त्री पोल से निचे गिर गया। पोल के पास गोबर की ढेर रहने के कारण दोनों मिस्त्री गोबर की ढेर पर जा गिरा। जिस कारण दोनों मिस्त्री बाल बाल बच गए, जिसे मामूली चोटे आई। इसी बात से आक्रोशित ग्रामीणों ने विधुत विभाग कि लापरवाही देखते हुए एन एच 28 को जाम कर दिया। सड़क जाम की सूचना मिलते हीं बछवाड़ा थाना की पुलिस टीम एएसआई आनंदी सिंह के नेतृत्व में घटना स्थल पर जाम छुड़ाने पहुंची हीं थी, कि आक्रोशित ग्रामीण ने अपना उग्र रूप धारण करते हुए पुलिस प्रशासन पर टुट पड़ा और पुलिस को घटना स्थल से खदेर कर वापस कर दिया। जिस कारण पुलिस पदाधिकारी समेत पुलिस बल को बिना बातचीत किये वैरंग वापस होना पड़ा। ग्रामीणों की मांग थी की विधुत विभाग में दोषी कर्मी पर करवाई की जाय एवं एनएच 28 के आर पार ग्यारह हजार वोल्ट के तार को ऊपर किया जाय।आक्रोशित ग्रामीणों नें बताया कि हम लोग क्षेत्र में बिजली की समस्या को लेकर लगातार बिजली विभाग को सूचना दे रहे हैं लेकिन विभाग के द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जाती है। ग्रामीणों ने बताया की चिरंजीवीपुर गांव के आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 57 के बिल्कुल करीब में बिजली का खंभा है जिसमें करंट आता है जिसकी भी लिखित सूचना हम लोगों नें बिजली विभाग को दिए हैं उस आंगनवाड़ी केंद्र में बच्चे शिक्षा ग्रहण करते और मौत से जूझते रहते हैं। जिस कारण हमेशा मौत का भय बना रहता है। ग्रामीणों का कहना था कि यह कोई पहली घटना नहीं है लगातार क्षेत्र में बिजली विभाग की भयानक लापरवाही के कारण आए दिन लोग बिजली का शिकार होते रहे है। करीब चार घंटे के बाद प्रखंड विकास पदाधिकारी पूजा कुमारी के नेतृत्व में बछवाड़ा थाना के अतिरिक्त पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर बल का प्रयोग करते हुए आक्रोशित लोगों को एनएच 28 से खदेर कर भगाया और जाम को खत्म किया। वहीं बीडीओ ने विद्युत विभाग के एसडीओ से दुरभाष पर सम्पर्क कर विधुत विभाग के मिस्त्री को बुलाकर एन एच 28 के आर पार गुजर रहे ग्यारह हजार वोल्ट के तार को ठीक करवाया। वही जाम के कारण एनएच 28 के दोनों किनारे लम्बी लाइन लगी रही। वही अपनी वाहन या बस से सड़क से गुजरने वाले यात्रियों को काफी फजीहत झेलना पड़ा।

Advertisement
GOLU BHAI
Advertisement
MS BAG
Digiqole Ad

Advertisement
Ad 2

न्यूज़ क्राइम 24 संवाददाता

Related post

error: Content is protected !!