राधे-राधे ओर जय माता दी के नारे लगाते ओर भीड़ इकठी कर नामंकन पत्र भरने पहुंचे उम्मीदवार

इंदौरा(गगन ललगोत्रा): चुनाव की तिथियों की घोषणा होते ही चुनावी जंग में अपना भाग्य आजमाने बाले उम्मीदबारो ने भी चुनाव प्रचार जोरो शोरो से शुरू कर दिया है और वोटरों को कई तरह के स्वज वाग दिखाकर वोट मांगते नजर आ रहे है। ओर कई पंचायतो में प्रधान का चुनाब लड़ रहे उम्मीदबार भी अपनी ही मनपसंद के उपप्रधान, बार्ड सदस्य और यहाँ तक की ब्लॉक सीमित सदस्य का एक ग्रुप बनाकर चुनाव मैदान में वोट मांग रहे है।ओर भीड़ इकठी कर कोविड नियमो के साथ साथ चुनाव आयोग के नियमो की भी सरेआम अवेहलना कर रहे है । अगर सरकार के आदेश माने तो एक उम्मीदबार पांच से अधिक लोगो को साथ लेकर प्रचार नही कर सकता और अगर नामाकन पत्र भी भरना है तो इतने ही समर्थक होने चाहिए। और कोबिड के नियमों को भी पूरा ध्यान रखते हुए समाजिक दूरी बनाए रखना और मास्क का प्रयोग करना उचित है परंतु इंदौरा क्षेत्र में यह सब नियम तार तार हो रहे है । जिसका ताजा उदाहरण विकासखंड इंदौरा की ग्राम पंचायत मोहटली में देखने को मिला है। प्रथम दिन इस पंचायत में नामाकन पत्र भरने बालो की संख्या तो कम दिखी पर नामाकन भरने बालो के समर्थक अधिक दिखे। देखने योग्य बात यह थी नामाकन पत्र भरने बाले प्रधान, उपप्रधान , बार्ड सदस्यों का एक ग्रुप बनकर मुख्य बाजार में अपने सैकड़ो समर्थकों को साथ लेकर रैली निकालकर शक्ति प्रदर्शन करता हुआ ओर धार्मिक नारे लगाता हुआ संख्या समर्थकों के साथ नामाकन पत्र भरने के लिए ग्राम पंचायत कार्यलय मोहटली में पहुँचा ओर इतनी भीड़ इकठी कर ओर रैली निकालकर सरेआम चुनाव आयोग ओर कोबिड के आदेशों की उलंघना करते नजर आए। अब देखना यह है कि चुनाव आयोग अपने आगे पीछे भीड़ इकठी कर लोगो के घरो में वोट मांगने जाने  बाले उम्मीदबार के खिलाफ क्या सख्त आदेश पारित करता है