प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष के उपस्थिति में कार्यकर्ताओं ने सुना

अररिया(रंजीत ठाकुर): भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार के उपस्तिथि में बुथ स्तरीय युवा कार्यकर्ताओं ने पीएम नरेंद्र मोदी के मन की बात के 72 वें संस्करण व 2020 के आखिरी मन की बात को रेडियो पर सुना एवं उनके विचारों को आत्मसात करने का संकल्प लिया। इस मौके पर प्रदेश उपाध्यक्ष श्री कुमार ने बताया कि पीएम मोदी ने अपने मन की बात में गुरु गोविंद सिंह, से लेकर गीता औरकश्मीरी केसर तक की बात करते हुए युवाओं में कैन डू की अप्रोच और वील डू की स्प्रिट से आत्म निर्भर भारत के लिए कार्यकरने का आह्वान किया।कहा कि देश में नया सामर्थ्य पैदा हुआ है। इस नई सामर्थ्य का नाम आत्मनिर्भरता है। कश्मीरी केसर के वैश्विक स्तर पर प्रसिद्ध होने और उसके औषधीय गुण की विस्तार पूर्वक जहाँ चर्चा किया वही गीता जयंती पर चर्चा करते कहा कि गीता की ही तरह, हमारी संस्कृति में जितना भी ज्ञान है सब जिज्ञासा से ही शुरू होता है। वेदांत का तो पहला मंत्र ही है ‘अथातो ब्रह्म जिज्ञासा’, अर्थात आओ हम ब्रह्म की जिज्ञासा करें। इसलिए तो हमारे यहां ब्रह्म के भी अन्वेषण की बात कही जाती है। पीएम मोदी ने कहा कि देश के सम्मान में सामान्य मानवी ने इस बदलाव को महसूस किया है। मैंने देश में आशा का एक अद्भुत प्रवाह भी देखा है। चुनौतियां खूब आई, संकट भी अनेक आए। कोरोना के कारण दुनिया में सप्लाई चेन को लेकर अनेक बाधाएं भी आई, लेकिन हमने हर संकट से नए सबक लिए उन्होंने कहा कि हमें वोकल फॉर लोकल की भावना को बनाए रखना है। प्रधानमंत्री ने इस साल का रिजॉल्यूशन देश के लिए लेने को कहा। इसके अलावा उन्होंने सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने की अपील की।उन्होंने भारत में तेंदुओं की संख्या 60 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ने पर प्रसन्न्ता जाहिर की और आज ही के दिन गुरु गोविंद सिंह जी की माता जी– माता गुजरी व परिवार के शहादत को भावपूर्ण अवस्था में याद किया और कहा कि इस शहादत ने संपूर्ण मानवता को, देश को, नई सीख दी।प्रधानमंत्री ने कहा कि हमेंवोकल फॉर लोकल की भावना को बनाए रखना हैऔर बढ़ाते ही रहना है।उन्होंने देश के मैन्यूफैक्चरर्स और इंडस्ट्री लीडर्स से आग्रह किया की देश के लोगों ने मजबूत कदम उठाया है, मजबूत कदम आगे बढ़ाया है। वोकल फॉर लोकल ये आज घर-घर में गूंज रहा है। ऐसे में अब, यह सुनिश्चित करने का समय है, कि, हमारे प्रोडक्ट्स विश्वस्तरीय होभारत में बने उत्पादों का इस्तेमाल करे। और इस न्यू ईयर में एक रिजॉल्यूशन अपने देश के लिए भी जरूर लें।उन्होंने देश को नये वर्ष की शुभकामनाएं देते कहा की 2021 में हमारा देशउन्नति के मार्ग पर आगे बढ़े।इस मौके पर सौरभ कुमार, प्रतिक कुमार, शंभू साह, अनिकेत कुमार , अभिषेक कुमार, आदि मौजूद थे प्रकाशनार्थ प्रेषित।