बिहार

कोविड-19 के नए वर्जन से निपटने के लिए जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में मॉक ड्रिल का हुआ आयोजन

पूर्णिया(रंजीत ठाकुर): विश्व के कई देशों में कोविड-19 के नए मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। भारत में भी कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमिक्रोम बीएफ-7 के कुछ केस दर्ज हुए हैं। इसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड सुरक्षा के मापदंडों पर विशेष ध्यान केंद्रित किया जा रहा है।

इसको लेकर मंगलवार को जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया। इस दौरान स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा सभी अस्पतालों में कोविड संक्रमण से उपचार के लिए उपलब्ध व्यवस्था की जांच की गई।

राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय व अस्पताल में सिविल सर्जन डॉ. ए. पी. चौधरी की अध्यक्षता में अन्य स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा उपलब्ध उपकरणों की जांच की गई। इसमें अस्पतालों में उपलब्ध बेड, लाइफ सपोर्ट सिस्टम, एम्बुलेंस की उपलब्धता, टेस्टिंग लैब में उपलब्ध आरटीपीसीआर, आरएटी किट्स, टेस्टिंग उपकरण, पीपीई किट्स, एन-95 मास्क की उपलब्धता, ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर आदि सुनिश्चित की गई।

मेडिकल कॉलेज में मॉक ड्रिल के दौरान हॉस्पिटल सुपरीटेंडेंट डॉ. वरुण कुमार, डीसीएचसी एनेस्थेटिक डॉ. विकास कुमार, आईडीएसपी एपिडेमियोलॉजिस्ट नीरज कुमार निराला, अस्पताल प्रबंधक अंजर कुमार, लेखा लिपिक सागर कुमार, अस्पताल भण्डारपाल सहित अन्य कर्मचारी व मेडिकल स्टाफ उपस्थित थे ।

जिले में 76 ऑक्सीजन बेड व 315 आइसोलेशन बेड उपलब्ध :

आईडीएसपी एपिडेमियोलॉजिस्ट नीरज कुमार निराला ने बताया कि कोविड-19 से सुरक्षा के लिए जिले के सभी अस्पतालों में सभी व्यवस्था उपलब्ध है। मेडिकल कॉलेज व प्राइवेट अस्पतालों में भी 315 आइसोलेशन बेड उपलब्ध हैं ।

मेडिकल कॉलेज में 60 बेड के साथ बनबनखी प्रखंड में 35 व धमदाहा में 30 बेड उपलब्ध हैं । मेडिकल कॉलेज में 76 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड भी उपलब्ध हैं जिसमें से 05 वेंटिलेटर बेड भी शामिल हैं । विभिन्न प्रखंडों में भी कोविड मरीजों की जांच के लिए अस्पताल में सभी व्यवस्था उपलब्ध है।

Advertisements
Ad 2

सभी अस्पतालों में कोविड-19 की जाँच किट्स उपलब्ध है। सभी अस्पतालों के ओपीडी में जांच के लिए उपस्थित मरीजों में से कोविड संदिग्ध मरीजों की जांच की जा रही है। सभी अस्पतालों में मेडिकल ऑक्सीजन, पीएसए प्लांट्स, आरटीपीसीआर एवं आरएटी किट्स, एन-95 मास्क व दवाइयां भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं ।

कोविड केयर सेंटर 24 घंटे कार्यरत :

कोविड-19 से लोगों को जागरूक करने और सभी आवश्यक सुविधाओं की जानकारी के लिए मेडिकल कॉलेज में कोविड केयर सेंटर कार्यरत है। कोविड लहर खत्म होने के बाद भी केयर सेंटर दिनभर कार्यरत था लेकिन जब से कोविड के नए वेरिएंट में बढ़ोतरी देखी गई है इसे फिर से 24 घंटे के लिए एक्टिवेट कर दिया गया है। लोग कोविड केयर सेंटर में कॉल करके संक्रमण से सुरक्षा सम्बंधित सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

संक्रमण से सुरक्षा के लिए प्रीकॉशन डोज लगाएं एवं कोविड प्रोटोकॉल का करें पालन : सिविल सर्जन

सिविल सर्जन डॉ. ए. पी. चौधरी ने कहा कि वर्तमान में जिले में कोई भी कोविड कन्फर्म केस नहीं है। लोगों को कोविड-19 के नए वेरिएंट्स से बिल्कुल भी पैनिक होने की जरूरत नहीं है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड संबंधी वस्तुस्थिति पर नजर रखी जा रही है।

इससे निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पहले भी तैयार था और अभी भी तैयार है। तैयारियों के निरक्षण के लिए आज मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया जिसमें सभी स्थितियों की जांच की गई। कोविड-19 की पहचान के लिए जिले में आरटीपीसीआर जांच भी जारी है।

लोगों से अपील है कि लोग बढ़ते संक्रमण से घबराएं नहीं। कोविड से सुरक्षा के लिए सभी प्रोटोकॉल का पालन करें जिसमें लोगों से सामाजिक दूरी का ख्याल रखना, पूरी तरह मास्क का प्रयोग करना, हाथों को सैनिटाइजर से सफाई करना आदि महत्वपूर्ण है। इसके अलावा सभी लोग कोविड प्रीकॉशन डोज जरूर लगाएं जिससे कि संक्रमित होने की संभावना कम हो जाती है।

Related posts

महाशिवरात्रि को लेकर जिलाधिकारी ने कि बैठक

भारी मात्रा में विदेशी शराब जब्त!

जिले के हृदयरोग से पीड़ित 05 बच्चों को स्क्रीनिंग के लिए आरबीएसके टीम द्वारा भेजा गया पटना

error: