बिहार

प्रमण्डलीय आयुक्त द्वारा विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान में प्रगति की समीक्षा की गई, सघन मतदाता जागरूकता अभियान चलाने का दिया गया निदेश

पटना, न्यूज क्राइम 24। निर्वाचक सूची प्रेक्षक-सह-आयुक्त, पटना प्रमण्डल, पटना कुमार रवि ने प्रमंडल अंतर्गत सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों-सह-जिला पदाधिकारियों को अपने-अपने जिला में सघन मतदाता जागरूकता अभियान चलाने का निदेश दिया है। वे आज आयुक्त कार्यालय स्थित अपने कार्यालय प्रकोष्ठ में इस विषय पर आयोजित प्रमंडल-स्तरीय एक बैठक में पदाधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। इसमें प्रमंडल अन्तर्गत सभी छः जिलों-पटना, नालन्दा, भोजपुर, बक्सर, रोहतास एवं कैमूर-के जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में आयुक्त द्वारा दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा की गई तथा अद्यतन स्थिति का जायजा लिया गया। उन्होंने कहा कि सभी महाविद्यालयों, महिला महाविद्यालयों, शैक्षणिक संस्थानों एवं विश्वविद्यालयों में वृहद स्तर पर मतदाता जागरूकता कार्यक्रम चला कर 18-19 साल के छात्र-छात्राओं का नाम निर्वाचक सूची में जोड़ें। सभी निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी (ईआरओ) एवं सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी (एईआरओ) अपने-अपने क्षेत्रों में महाविद्यालयों में निर्वाचन साक्षरता क्लब का नियमित आयोजन करंे।

छात्र-छात्राओं के बीच इन्टरेक्टिव सेशन आयोजित कर युवा एवं महिला निर्वाचकों को निर्वाचन प्रक्रिया में सक्रिय रूप से भागीदारी के लिए प्रोत्साहित करें। जेंडर रेशियो एवं ईपी रेशियो में सुधार के लिए विशेष प्रयास करें। अधिक-से-अधिक संख्या में अर्हता प्राप्त महिलाओं का पंजीकरण कराएँ। चुनाव में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए गॉव-गॉव में अभियान चलाएँ तथा लोगों को मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करें। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में मतदान के प्रति उदासीनता अच्छी स्थिति नहीं है। इसमें परिवर्तन लाने के लिए स्वीप गतिविधि अंतर्गत नियमित तौर पर कार्यक्रम का आयोजन करें।

बैठक में आयुक्त श्री रवि द्वारा सभी छः जिलों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान में निम्नलिखित बिन्दुओं पर विस्तृत समीक्षा की गईः-

  1. विधान सभा/मतदान केन्द्रवार जेन्डर रेशियो, ईपी रेशियो एवं 18-19 आयु वर्ग के निर्वाचकों के संदर्भ में अद्यतन स्थिति।
  2. क्षेत्रान्तर्गत जिलावार प्रारूप प्रकाशन उपरान्त प्रारूप-6, 7 एवं 8 में प्राप्त आवेदनों एवं उसके निष्पादन की अद्यतन स्थिति।
  3. डीएसई/पीएसई-2 के संबंध में की जाने वाली कार्रवाई।
  4. हाउस टू हाउस वेरिफिकेशन के क्रम में विलोपन हेतु प्राप्त प्रपत्र-7 की अद्यतन स्थिति।
  5. विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अन्तर्गत स्वीप गतिविधियों का अनुश्रवण।
  6. विधान सभावार निर्धारित वीटीआर लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में कार्य योजना पर की गयी अद्यतन कार्रवाई।

आयुक्त श्री रवि ने जिलों में निर्वाचन साक्षरता, पंजीकरण तथा निर्वाचन प्रक्रिया से संबंधित स्वीप गतिविधि के तहत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करने का निदेश दिया। उन्होंने निदेश दिया कि विकास मित्रों, तालिमी मरकज, आगनबाँड़ी सेविकाओं एवं सहायिकाओं, आशा कार्यकर्ताओं, जीविका दीदियों, प्रखंड कल्याण पदाधिकारियों एवं अन्य को इस अभियान में सक्रिय रूप से शामिल करंे। सभी स्टेकहोल्डर्स यथा शिक्षा, कल्याण, ग्रामीण विकास, समाज कल्याण, बैंकिग, पंचायती राज, स्वास्थ्य विभाग, नागरिक समाज एवं अन्य को इससे जोड़ंे।

उन्होंने कहा कि दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम चल रहा है। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार निर्वाचक सूची का प्रारूप प्रकाशन 27 अक्टूबर, 2023 (शुक्रवार) को किया गया है। दावा एवं आपत्ति दिनांक 09 दिसम्बर, 2023 (शनिवार) तक दिया जा सकता है। दिनांक 26 दिसम्बर, 2023 (मंगलवार) तक दावों एवं आपत्तियों का निष्पादन किया जाएगा। निर्वाचक सूची का अंतिम प्रकाशन दिनांक 05 जनवरी, 2024 को किया जाएगा।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि आज दिनांक 02.12.2023 (शनिवार) तथा कल दिनांक 03.12.2023 (रविवार) को सभी मतदान केन्द्रों पर विशेष अभियान दिवस आयोजित किया जा रहा है। इस दरम्यान सभी मतदान केन्द्र स्तरीय पदाधिकारी (बीएलओ), सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी (एईआरओ) तथा निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी (ईआरओ) अपने-अपने क्षेत्रों में सक्रिय रहें तथा भारत निर्वाचन आयोग के निदेशों के अनुरूप मतदाताओं का पंजीकरण कार्य करेंगे।

बैठक में सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी द्वारा दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम के बारे में ईआरओनेट का अद्यतन प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह द्वारा बताया कि दिनांक 27 अक्टूबर, 2023 से दिनांक 30 नवम्बर, 2023 तक 68,731 फार्म-6 प्राप्त हुआ है जिसमें 7,622 का निष्पादन कर दिया गया है। शेष प्रक्रियाधीन है। प्राप्त फार्म-7 की संख्या 7,000 है जिसमें 413 का निष्पादन कर दिया गया है तथा शेष प्रक्रियाधीन है। फार्म-8 के प्राप्त 7,445 आवेदनों में 2,519 आवेदनों को निष्पादित किया गया है। शेष का निष्पादन प्रक्रियाधीन है।

Advertisements
Ad 2

जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी, नालन्दा द्वारा दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम के बारे में अद्यतन प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। उन्होंने बताया कि दिनांक 27 अक्टूबर, 2023 से 30 नवम्बर, 2023 तक 30,273 फार्म-6 प्राप्त हुआ है जिसमें 9,153 का निष्पादन कर दिया गया है। शेष प्रक्रियाधीन है। प्राप्त फार्म-7 की संख्या 14,363 है जिसमें 4,444 का निष्पादन कर दिया गया है तथा शेष प्रक्रियाधीन है। फार्म-8 के प्राप्त 4,308 आवेदनों में 2,013 आवेदनों को निष्पादित किया गया है। शेष का निष्पादन प्रक्रियाधीन है।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी, भोजपुर द्वारा दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम के बारे में अद्यतन प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। उन्होंने बताया कि दिनांक 27 अक्टूबर, 2023 से 30 नवम्बर, 2023 तक 29,982 फार्म-6 प्राप्त हुआ है जिसमें 8,855 का निष्पादन कर दिया गया है। शेष प्रक्रियाधीन है। प्राप्त फार्म-7 की संख्या 6,186 है जिसमें 1,512 का निष्पादन कर दिया गया है तथा शेष प्रक्रियाधीन है। फार्म-8 के प्राप्त 3,778 आवेदनों में 1,902 आवेदनों को निष्पादित किया गया है। शेष का निष्पादन प्रक्रियाधीन है।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी, बक्सर द्वारा दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम के बारे में अद्यतन प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। उन्होंने बताया कि दिनांक 27 अक्टूबर, 2023 से 30 नवम्बर, 2023 तक 22,685 फार्म-6 प्राप्त हुआ है जिसमें 6,908 का निष्पादन कर दिया गया है। शेष प्रक्रियाधीन है। प्राप्त फार्म-7 की संख्या 1,888 है जिसमें 915 का निष्पादन कर दिया गया है तथा शेष प्रक्रियाधीन है। फार्म-8 के प्राप्त 2,135 आवेदनों में 1,074 आवेदनों को निष्पादित किया गया है। शेष का निष्पादन प्रक्रियाधीन है।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी, कैमूर द्वारा दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम के बारे में अद्यतन प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। उन्होंने बताया कि दिनांक 27 अक्टूबर, 2023 से 30 नवम्बर, 2023 तक 26,856 फार्म-6 प्राप्त हुआ है जिसमें 16,564 का निष्पादन कर दिया गया है। शेष प्रक्रियाधीन है। प्राप्त फार्म-7 की संख्या 2,155 है जिसमें 944 का निष्पादन कर दिया गया है तथा शेष प्रक्रियाधीन है। फार्म-8 के प्राप्त 4,285 आवेदनों में 2,668 आवेदनों को निष्पादित किया गया है। शेष का निष्पादन प्रक्रियाधीन है।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी-सह-जिला पदाधिकारी, रोहतास द्वारा दिनांक 01.01.2024 की अर्हता तिथि के आधार पर निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, 2024 कार्यक्रम के बारे में अद्यतन प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। उन्होंने बताया कि दिनांक 27 अक्टूबर, 2023 से 30 नवम्बर, 2023 तक 54,586 फार्म-6 प्राप्त हुआ है जिसमें 28,408 का निष्पादन कर दिया गया है। शेष प्रक्रियाधीन है। फार्म-8 के प्राप्त 9,191 आवेदनों में 4,635 आवेदनों को निष्पादित किया गया है। शेष का निष्पादन प्रक्रियाधीन है।

आयुक्त कुमार रवि द्वारा सभी जिला पदाधिकारी को भारत निर्वाचन आयोग के निदेशों का अक्षरशः अनुपालन करते हुए शत-प्रतिशत आवेदनांे का ससमय निष्पादन करने का निदेश दिया गया। आयुक्त ने अधिकारियों को निदेश दिया कि मतदाता सूची से समान फोटो वाली प्रविष्टियों (पीएसई) और जनसांख्यिकीय समान प्रविष्टियों (डीएसई), नाम विलोपन इत्यादि के संबंध में मानक संचालन प्रक्रिया का पालन करें। निर्वाचक सूची से नाम विलोपित करने की प्रक्रिया में विशेष सतर्कता बरती जाए। आयोग के निदेशों के अनुसार नोटिस का तामिला कराते हुए पूर्ण सत्यापन के पश्चात एवं विहित प्रक्रिया का अक्षरशः अनुपालन करते हुए ही नाम विलोपित की जाए। उन्होंने कहा कि आवेदनों के निष्पादन में पूर्ण पारदर्शिता सुनिश्चित करें।

आयुक्त ने सभी निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी (ईआरओ) को विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम में प्रगति की मतदान केन्द्रवार समीक्षा करने का निदेश दिया। निर्वाचक जनसंख्या अनुपात (ईपी रेशियो) में अपेक्षित सुधार के लिए आवश्यक प्रयास करने का निदेश दिया गया। आयुक्त कुमार रवि ने कहा कि योग्य मतदाताओं को सहायता के लिए सम्पूर्ण निर्वाचन तंत्र तत्पर है। मतदाताओं को निर्वाचन सूची में पंजीकरण के लिए प्रयुक्त होने वाले विभिन्न प्रपत्रों तथा प्रक्रिया की जानकारी दी जाती है। सभी प्रपत्रों में ऑन-लाईन आवेदन हेतु वोटर सर्विस पोर्टल तथा वोटर हेल्प लाईन ऐप का प्रयोग किया जा सकता है।

ऑफ लाईन आवेदन हेतु जिला निर्वाचन कार्यालय, अनुमण्डल निर्वाचन कार्यालयों तथा बीएलओ से सम्पर्क किया जा सकता है। साथ ही मतदाता हेल्पलाईन 1950 का प्रयोग कर पंजीकरण से संबंधित अन्य जानकारी भी प्राप्त की जा सकती है। आयुक्त कुमार रवि ने कहा कि संविधान द्वारा प्रदत्त सार्वभौम वयस्क मताधिकार हम सभी के लिए बहुमूल्य है। मतदाता सूची पूरे निर्वाचन प्रक्रिया का आधार है। उन्होंने वयस्क नागरिकों विशेषकर युवाओं तथा महिलाओं से अधिक-से-अधिक संख्या में मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वाने का आह्वान किया।आयुक्त कुमार रवि ने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में हम सबको सकारात्मक ढंग से शामिल होना चाहिए।

हम सभी स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण, भयमुक्त तथा सहभागितापूर्ण चुनाव सम्पन्न कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं। जागरूक मतदाता हमारे समृद्ध लोकतंत्र की रीढ़ हैं। चुनावों में उच्च मतदान प्रतिशत इसे एक नया आयाम देगा। इस बैठक में जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह, जिलाधिकारी नालन्दा शशांक शुभंकर, जिलाधिकारी भोजपुर राज कुमार, जिलाधिकारी बक्सर अंशुल अग्रवाल, जिलाधिकारी कैमूर सावन कुमार, जिलाधिकारी, रोहतास नवीन कुमार, उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, पटना प्रमंडल रौशन अली, सभी जिलों के उप निर्वाचन पदाधिकारी, सभी निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी अन्य भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उपस्थित थे।

Related posts

शिवरात्रि एवं शब ए बारात को लेकर शांति समिति कि बैठक

अखिल भारतीय यादव महासंघ के चिकित्सा प्रकोष्ठ के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष बनेगौरव यादव

तेजस्वी के ‘जन विश्वास यात्रा’ का दूसरा चरण कल से, 1400 किलोमीटर का रोड-शो

error: