अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र फुलकाहा में कोरोना वैक्सीन नहीं लगाने जाने से आसपास के लोगों में आक्रोश

 अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र फुलकाहा में कोरोना वैक्सीन नहीं लगाने जाने से आसपास के लोगों में आक्रोश
Advertisement
Ad 3
Advertisement
Ad 4
Digiqole Ad

अररिया(रंजीत ठाकुर): जिले के नरपतगंज प्रखंड अंतर्गत नवाबगंज पंचायत स्थित अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र फुलकाहा में कोरोना वैक्सीनेशन बंद हो जाने से स्थानीय एवं आसपास के लोगों में स्वास्थ्य विभाग के प्रति आक्रोश व्याप्त है। जबकि पांच पंचायतों का यह अस्पताल एकमात्र अस्पताल है। लोगों के शिकायत पर संवाददाता के द्वारा अस्पताल पहुंचकर कर्मियों से इस संबंध में पूछा तो उन्होंने बताया कि कोरोना वैक्सीन नरपतगंज पीएचसी से नहीं आ रहा है जिसके चलते यहां के लोगों को वैक्सीन नहीं लग रहा है। उन्होंने बताया कि 23 मार्च 2021 से शुरुआत कर 12मई 2021 तक इस अस्पताल में वैक्सीनेशन का काम किया गया अब तक 1360 लोगों को वैक्सीन लगाया गया।अभी भी लोग सैकड़ों की संख्या में वैक्सीन लगाने यहां रोज आते हैं? और वापस चले जाते हैं। वैक्सीन यहां उपलब्ध नहीं है जिसके चलते वैक्सीनेशन का काम बंद है.

Advertisement
GOLU BHAI
Advertisement
MS BAG

इस बाबत नरपतगंज पीएचसी प्रभारी रूपेश कुमार ने बताया कि अभी वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। वैक्सीन उपलब्ध होने पर फिर से वैक्सीनेशन का काम शुरू कर दिया जाएगा.

Advertisement
Ad 2

इस बाबत स्थानीय लोग क्या कहते है:-

१. कौशल कुमार ने बताया कि क्षेत्र के 90% लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं लगा है। स्वास्थ्य विभाग को अभिलंब वैक्सीनेशन का काम प्रारंभ करना चाहिए।

२. रंजीत पासवान बताते है कि इतनी बड़ी आबादी का यह अस्पताल को देखने वाला कोई नहीं है यहां 45 वर्ष से अधिक 1360 लोगों का वैक्सीनेशन तो किया गया लेकिन 18 से 44 वर्ष युवाओं का वैक्सीन के लिए यहां के लोगों को 10 किलोमीटर की दूरी को जाना पड़ता है जिससे युवाओं एवं युवती को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग के सिविल सर्जन से कहना है कि फुलकाहा अस्पताल में भी सभी तरह का वैक्सीन का प्रबंध किया जाए।

३. ललन कुमार दास बताते हैं कि:-
क्षेत्र के जनता को देखने वाला ना तो कोई जनप्रतिनिधि है और ना ही कोई पदाधिकारी यहां के लोगों का जिंदगी भगवान भरोसे ही चलता है। इतनी बड़ी आबादी में अस्पताल का हाल इतना बुरा है कि जिस छत के नीचे अस्पताल कर्मी रहते हैं बरसों से जर्जर है कभी भी कोई अप्रिय घटना घटित हो सकता है। दूसरी बात यह कहना है कि स्वास्थ्य पदाधिकारी इस अस्पताल को इस महामारी के समय कोरोना के सभी प्रकार का वैक्सीन उपलब्ध करावे।
४. राजेश चौरड़ीया कहते हैं कि:-
इस कोरोना काल में लॉक डाउन होने से आसपास के मजदूर एवं छोटे व्यापारी का कमाई बंद हो जाने से 18 वर्ष से 44 वर्ष के युवाओं को 10 किलोमीटर जाकर वैक्सीनेशन कराना काफी कठिन साबित हो रहा है। जिससे संक्रमण बढ़ने का भय सता रहा है। स्वास्थ्य विभाग अभिलंब फुलकाहा अस्पताल में सभी प्रकार के कोरोना वैक्सीन उपलब्ध करवा दें।

Digiqole Ad

News Crime 24 Desk

Related post

error: Content is protected !!