रिफ्यूजल इलाकों में लोगों को प्रेरित करने के उद्देश्य से होगा रात्रि चौपाल का आयोजन

 रिफ्यूजल इलाकों में लोगों को प्रेरित करने के उद्देश्य से होगा रात्रि चौपाल का आयोजन
Advertisement

अररिया(रंजीत ठाकुर): कोरोना टीकाकरण से संबंधित मामलों को लेकर जिलाधिकारी प्रशांत कुमार सीएच की अध्यक्षता में विशेष बैठक आयोजित की गयी। बैठक में टीकाकरण के मामले में अब तक प्राप्त उपलब्धियों की गहन समीक्षा की गयी। साथ ही आगामी 04 दिसंबर को आयोजित होने वाले विशेष टीकाकरण अभियान की सफलता को लेकर कई जरूरी दिशा निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने बीते 15 दिनों में संचालित अभियान की उपलब्धियों पर संतोष जाहिर किया। उन्होंने रिफ्यूजल इलाकों में विशेष अभियान संचालित करते हुए लोगों के शतप्रतिशत टीकाकरण पर जोर दिया।

Advertisement

रिफ्यूजल इलाकों में होगा रात्रि चौपाल का आयोजन:

जिलाधिकारी ने रिफ्यूजल इलाकों में टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिये रात्रि चौपाल के आयोजन का निर्देश दिया। प्रशासनिक पदाधिकारी, संबंधित चिकित्सा पदाधिकारी, आईसीडीएस के अधिकारियों चौपाल में भाग लेते हुए लोगों को टीकाकरण के लिये प्रेरित करने का निर्देश उन्होंने दिया। इसमें स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी प्रमुखता के आधार पर शामिल किया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी एसडीओ व बीडीओ ईआरओ नेट से विकलांग लोगों की सूची तैयार कर बीएलओ को दें। समाज कल्याण विभाग व शिक्षा विभाग के वरीय अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर उन्हें टीकाकृत करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रथम डोज के मामले में जिले की वर्तमान उपलब्धि 72 प्रतिशत के करीब है। प्राथमिकता के आधार पर 80 प्रतिशत उपलब्धि हासिल किया जाना है।

वार रूम के संचालन को प्रभावी बनाने का निर्देश:

Advertisements
Advertisement

जिलाधिकारी ने कहा कि दूसरे डोज के टीकाकरण को बढ़ावा देने में प्रखंड वार संचालित वार रूम बेहद प्रभावी साबित हो सकता है। इसका बेहतर क्रियान्वयन सुनिश्चित कराने का निर्देश उन्होंने संबंधित अधिकारियों को दिया। इसके माध्यम से दूसरे डोज के ड्यू लाभार्थियों को इसकी सूचना देते हुए उन्हें टीकाकरण के लिये प्रेरित किया जाये। डीएम ने कहा कि विभिन्न प्रखंडों में संपन्न पंचायत चुनाव में हुए वोटिंग को टीकाकरण का आधार नहीं माना जा सकता है। बहुत से लोग वोट डालने नहीं आते। ऐसे में यह बड़ी संख्या में लोगों के टीकाकरण से वंचित होने की संभावना जिले में अब भी बनी हुई है। अभियान की बेहतर संचालन व मॉनिटरिंग के लिये प्रखंडवार वरीय प्रशासनिक अधिकारी व चिकित्सा पदाधिकारी को इसका जिम्मा सौंपने का निर्देश उन्होंने दिया। उन्होंने कहा कि अब तक जिले में एईएफआई का कोई मामला सामने नहीं आया है। बावजूद इसके इसे लेकर खासतौर पर सतर्क व सचेत रहने का निर्देश उन्होंने दिया।

अभियान के क्रम में 1.37 लाख लोगों के टीकाकरण का है लक्ष्य :

बैठक में संबंधित विभिन्न विभागीय अधिकारियों से चर्चा के बाद 04 दिसंबर को आयोजित अभियान में 1.37 लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया। इसमें 57 हजार लोगों को टीका का पहला व 79 हजार लोगों को टीका का दूसरा डोज का लक्ष्य निर्धारित है। सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने बताया कि जिलाधिकारी से प्राप्त दिशा निर्देश के आलोक में महाअभियान की सफलता को लेकर संबंधित चिकित्सा अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिये गये हैं। प्रखंडवार जागरूकता संबंधित विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। डीपीएम स्वास्थ्य रेहान अशरफ ने कहा कि अभियान में स्वास्थ्य, आईसीडीएस, शिक्षा, जिला कल्याण, ग्रामीण विकास विभाग सहित संबंधित अन्य विभागों को जरूरी जिम्मेदारी सौंपी गयी है। सामूहिक प्रयास से अभियान की सफलता का उन्होंने विश्वास व्यक्त किया। बैठक में सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता, डीआईओ डॉ मोईज, एसीएमओ डॉ राजेश कुमार, डॉ राजेंद्र कुमार, डीईओ राजकुमार, आईसीडीएस डीपीओ सीमा रहमान, डीपीएम स्वास्थ्य रेहान अशरफ सहित जिले के सभी बीडीओ, सीडीपीओ सहित संबंधित अन्य अधिकारी शामिल थे।

न्यूज़ क्राइम 24 संवाददाता

Related post