लॉकडाउन की उड़ी रही है धज्जियां, प्रशासन के नाक के नीचे आगे से शटर बंद अंदर हो रही दुकानदारी!

 लॉकडाउन की उड़ी रही है धज्जियां, प्रशासन के नाक के नीचे आगे से शटर बंद अंदर हो रही दुकानदारी!
Advertisement
Ad 3
Advertisement
Ad 4
Digiqole Ad

अररिया(रंजीत ठाकुर): बढ़ते कोरोना महामारी को लेकर जहां बिहार सरकार से लेकर सभी आला अधिकारी की नींद उड़ी हुई है।वहीं एक तरफ कोरोना संक्रमण को लेकर फारबिसगंज अनुमंडल प्रशाशन क्षेत्र के बाजार में ग्यारह बजे के बाद खुल रही दुकानों पर सख्ती बरत रही है। तो वहीं दूसरी तरफ इसके विपरीत बथनाहा में प्रशासन की लापरवाही कहा जाय या फिर मेहरबानी, शटर बंद कर दुकानदारी कर रहे ऐसे दुकानदारों पर न ही कोई जांच न ही कार्यवाही नहीं होने से कई तरह के सवाल खड़े हो रहें है।वहीं एक ही घर में दो रीत वाली कहानी चरितार्थ हो रही है।सूत्रों की माने तो बथनाहा ओपी क्षेत्र के बीरपुर चौक से हटिया चौक तक कर रहे कपड़े की दुकान बाहर से तो बंद है लेकिन अंदर ग्राहक खचाखच भरी रहती है।जबकि कोरोना गाइड लाइन का पालन कराने को लेकर प्रसाशन सख्ती दिखाने का दावा कर रही है।वहीं बाजार में रोजाना दर्जनों दुकान को सील करने की कार्यवाही की जा रही है।ऐसे में सवाल उठता है कि ग्रामीण इलाकों में क्या इसकी छूट है।कहीं ऐसा न हो कि कोरोना चोरी छिपे ग्रामीण इलाकों में प्रवेश कर जाएं औऱ चर्चा बाजार की होती रहे, क्योंकि न ही ग्रामीण क्षेत्र के लोग इतने जागरूक है, न ही सचेत, ऐसे में यह लापरवाही न पड़ जाए प्रशासन एवं समाज के लोगों के लिए भारी. इस बाबत सोनापुर पंचायत के कुछ स्थानीय लोगों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि बथनाहा ओपी क्षेत्र के सोनापुर बाजार में भी इसी प्रकार का स्थिति बना हुआ है। समय रहते अगर प्रशासन सचेत नहीं हुआ तो बाजार छोड़ ग्रामीण क्षेत्र में भी कोरोना महामारी संक्रमण से अछूता नहीं रहेगा।

Advertisement
GOLU BHAI
Advertisement
MS BAG
Digiqole Ad

Advertisement
Ad 2

News Crime 24 Desk

Related post

error: Content is protected !!