कोविड हेल्थ सेंटर फ़ारबिसगंज में बेड फर्जीवाड़ा की उच्चस्तरीय जांच : प्रवीण कुमार

अररिया(रंजीत ठाकुर): फ़ारबिसगंज स्तिथ डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए 50 बेड की जगह स्वास्थ विभाग और प्रशासन द्वारा राज्य सरकार को फर्जी रूप से 100 बेड उपलब्ध होने की जानकारी देने को भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार ने इसे बिहार के एनडीए सरकार को बदनाम करने की साजिश करार दिया है। श्री कुमार ने इस संधर्भ में बिहार सरकार के स्वास्थ मंत्री मंगल पांडे, एवं प्रभारी जिला मंत्री आलोक रंजन झा को पत्र प्रेषित करते हुए कहा है कि
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार पूरे तत्परता के साथ कोरोना संकट के नियंत्रण के लिए अस्पतालों में मरीजों के जाँच से लेकर इलाज तक कि व्यवस्था उन्नत बनाने में लगी है वहीं कुछ भ्रष्ट कर्मियों और पदाधिकारियों द्वारा अपने फर्जीवाड़े के कुकृत्य से सरकार के छवी को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश उपाध्यक्ष श्री कुमार ने स्वास्थ मंत्री व प्रभारी मंत्री को प्रेषित पत्र में मांग किया है कि डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर फ़ारबिसगंज में बेड फर्जीवाड़ा की उच्चस्तरीय जांच करा कर दोषी कर्मियों और पदाधिकारियों पर सख्त विभागीय कार्रवाई की मांग किया है।वही जिला के अस्पतालों में तकनीकी कर्मियों के अभाव में बंद पड़े वेंटिलेटर सुविधा पर संज्ञान लेते हुए शीघ्र प्रारंभ करने हेतु आवश्यक कार्रवाई की भी मांग जनहित में किया है।