बिहार

जीएनएम अभियर्थियों को मिला ‘आप’ सांसद संजय सिंह का साथ, नीतीश को लिखा पत्र…

Advertisements
Ad 4

पटनाः आम आदमी पार्टी (आप) के बिहार प्रभारी और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार द्वारा विज्ञापित ग्रेड ‘ए’ नर्स स्टाफ पद पर वर्ष 2016-19 बैच के जीएनएम छात्राओं को सम्मिलित करने के संबंध में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखा है. उन्होंने कहा है कि बिहार में जीएनएम कोर्स का सत्र 2016–19 में काफी विलंब हो चुका है। इसमें अध्ययनरत छात्राओं कि कहीं कोई गलती नहीं है। झारखंड, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश में उक्त सत्र 2016-19 की जीएनएम कोर्स की अंतिम परीक्षा वर्ष 2019 के अक्टूबर माह में ही समाप्त हो चुकी है। दूसरे राज्यों के छात्राओं के बीच अंक प्रमाण पत्र, निबंधन प्रमाण पत्र इत्यादि ससमय निर्गत हो चुका है.

Advertisements
Ad 2
वंचित होने की है स्थिति में-
विज्ञापन के शर्तों के अनुरूप इन राज्यों के अभ्यर्थी भी आवेदन करने के योग हैं। परंतु विडंबना यह है कि बिहार के अभ्यार्थी / छात्राएं इसमें आवेदन करने से वंचित होने की स्थिति में है, जिसकी सारी जवाबदेही स्वास्थ्य विभाग बिहार पटना को जाती है। बिहार जीएनएम की सभी छात्राएं सत्र 2016-19 की लिखित एवं व्यवहारिक परीक्षा (बिहार परिचारिका परिषद द्वारा संचालित) दिसम्बर 2020 में ही दे चुकी है। उक्त सत्र 2016-19 की जीएनएम कोर्स की सजल समाप्ति पिछले वर्ष 2019 अक्टूबर माह में ही हो जानी चाहिए थी और सारे प्रमाण पत्र ससमय छात्राओं को निर्गत करनी चाहिए था। लेकिन नियामक संस्था स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से ऐसा संभव नहीं हो सका। जिस कारण पीएमसीएच, एनएमसीएच, एसकेएमसीएच, डीएमसीएच के हज़ारों छात्राओं का भविष्य खतरे में पड़ गया है। सांसद संजय सिंह ने सूबे के मुखिया नीतीश कुमार से आग्रह करते हुए लिखा है कि छात्रहित में उनके भविष्य को ध्यान में रखते हुए जीएनएम छात्राओं की मांग पर विचार करने की मांग की है.
जीएनएम छात्राओं की मांग-
पार्टी नेता बबलू प्रकाश ने कहा कि- 4102 ग्रेड ‘ए’ नर्स स्टाफ पद के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति ने बहाली निकाली है जिसका अंतिम तिथि 20 जनवरी 2021 है। सरकार से छात्र हित में- बहाली की अंतिम तिथि उस वक़्त के लिए बढ़ा दी जाए जबतक जीएनएम छात्राओं परीक्षाफल व रजिस्ट्रेशन बीएनआरसी के द्वारा जारी कर दी जाए।

Related posts

आंतरिक मूल्यांकन से एनक्वास व कायाकल्प प्रमाणीकरण की प्रक्रिया को मिलेगी मजबूती

यात्री शेड पर व्यापारियों का कब्जा!

एसडीएम शैलजा पांडे ने निर्माणाधीन योजनाओं का किया जांच