सूबे की सड़कों पर दौड़ेगी अब इलेक्ट्रिक बसे, सीएम नीतीश ने हरी झंडी दिखाकर किया शुभारंभ

 सूबे की सड़कों पर दौड़ेगी अब इलेक्ट्रिक बसे, सीएम नीतीश ने हरी झंडी दिखाकर किया शुभारंभ
Advertisement
Ad 3
Advertisement
Ad 4
Digiqole Ad

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): बिहार में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए अब इलेक्ट्रिक बसों का परिचालन शुरू हो गया । सीएम नीतीश कुमार ने इसका विधिवत शुभारंभ करते हुए हरी झंडी दिखाकर बसों को रवाना किया है । उन्होंने बटन दबाकर कुल 82 बसों को रवाना कर दिया. इनमें 12 इलेक्ट्रिक, 15 लग्जरी, 25 डीलक्स एवं 30 सेमी डीलक्स बस शामिल हैं. इन बसों का परिचालन बिहार के 43 विभिन्न मार्गों पर किया जा रहा है. इन बसों के परिचालन शुरू होने से राज्य के सभी 38 जिलों से पटना की कनेक्टिविटी बढ़ जाएगी। बिहार में हरियाली योजना और पर्यावरण संरक्षण अभियान के बाद अब इलेक्ट्रिक बसों का परिचालन से बिहार को प्रदूषण मुक्त बनाने का बड़ा अभियान बिहार सरकार ने शुरू कर दिया है। सरकार इसके साथ ही बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक बसों की खरीद करने जा रही है जिससे अधिक से अधिक मार्ग पर इलेक्ट्रिक बसों का परिचालन सुचारू रूप से सुनिश्चित कराया जा सके.

Advertisement
GOLU BHAI
Advertisement
MS BAG

जानकारी के मुताबिक पटना-राजगीर, पटना-मुजफ्फरपुर की सेवा शुरु हो गई है और पटना नगर सेवा के विभिन्न मार्गों पर भी अभी बसों का परिचालन किया जाएगा । सीएम ने उद्घाटन के बाद इलेक्ट्रिक बस पर भ्रमण भी किया । उद्घाटन के मौके पर उप मुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद,रेणु देवी,मंत्री अशोक चौधरी सहित अन्य मंत्री एवं अधिकारी मौजूद रहे हैं.

Advertisement
Ad 2

मुख्यमंत्री श्री कुमार ने बताया कि अभी 12 बस पहुंच चुकी है और 25 बस जल्द ही आने वाली है । सीएम ने कहा बिहार में पर्यावरण संरक्षण को लेकर बहुत काम हो रहा है और उसी कड़ी में अब इलेक्ट्रिक से चलने वाली बसों का भी परिचालन सुनिश्चित किया गया है ।उन्होंने आगे कहा कि 25 डीलक्स, 30 सेमी डिलक्स समेत कुल 82 बस आने वाली है । सीएम ने कहा इन बसों के चलने से ना सिर्फ प्रदूषण कम होगा बल्कि दुर्घटनाओं में भी कमी आएगी ।सीएम ने कहा कि वो पूर्व से ही इलेक्ट्रिक कार में सफर कर रहे है और राज्य में अधिक से अधिक इलेक्ट्रिक वाहनों का परिचालन हो उसके लिए सरकार काम कर रही है.

सीएम नीतीश कुमार ने इस मौके पर बस की सवारी भी की. सीएम नीतीश बस से विधानसभा पहुंचे. उन्होंने इस सफर को सुखदायी बताया. उन्होंने कहा कि ये एक बेहतरीन पहल है. इससे पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होगा. यात्रियों को भी इसमें सफर कर काफी सुविधा मिलेगी.उन्होंने कहा कि पहली बार जब इलेक्ट्रिक गाड़ी में चले थे. जहां से गुजरते थे लोग उसको देखने लगते थे. खुशी की बात यह है कि अब बस का परिचालन होगा.

बस के परिचालन से एक ओर जहां पर्यावरण के संरक्षण में फायदा होगा. वहीं, दूसरी ओर इसमें यात्रियों के लिए सारी सुविधायें मिलेंगी. बस में अधिकतर सिस्टम ऑटोमेटिक है. लोगों को इसमें सफर करने में काफी आनंद आयेगा.उन्होंने कहा कि अभी सिर्फ 12 बसों का ही परिचालन हो रहा है. लेकिन, धीरे धीरे इसकी संख्या और बढ़ायी जायेगी. सरकार राज्य में जल जीवन हरियाली योजना चला रही है. ऐसे में ये बस पर्यावरण संरक्षण में भी काफी कारगर होगी. इससे लोगों को सहूलियत तो मिलेगी ही साथ ही दुर्घटनायें भी कम होंगी. परिवहन विभाग ने सभी बसों के ड्राइवर की ट्रनिंग के लिए पूरे इंतजाम किये हैं. बसों की पड़ताल के लिए भी संस्थान बनाया जायेगा. सरकार दो साल पहले ही इसके लिए कमेटी गठित कर चुकी है. कहा कि नियमों को भी बनाया जा चुका है. बहुत जल्द इसका रिजल्ट देखने को मिलेगा.महंगाई व पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों को लेकर भी उन्होंने कहा कि ये बस काफी कारगर होगी. उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों से खर्च घट जायेगा. वहीं, महंगाई को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार इसको लेकर लगातार काम कर रही है. केद्र से भी इसको लेकर कई बार मांग कर चुके हैं. साथ ही पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार प्रयासरत है कि पेट्राेल में 20% तक इथेनॉल को मिश्रित कर सकें. इससे पेट्रोल की कीमत को कंट्रोल करने में काफी सहूलियत होगी.

गौरतलब हो कि बिहार के मुख्यमंत्री बढ़ते ग्लोबल वार्मिंग के खतरे को भांप कर ही पर्यावरण संरक्षण और हरियाली योजना के तहत लगातार पेड़ पौधों को लगाने ही नही बल्कि उन्हें सिंचित कर संरक्षित रखने का अभियान भी चला रहे है। बिहार को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए सीएम हर मौके पर हरियाली को बढ़ावा की अपिल भी करते हैं।

Digiqole Ad

News Crime 24 Desk

Related post

error: Content is protected !!