क्राइमबिहार

हत्याकांड का खुलासा, नौबतपुर में होली के 1 दिन पहले हुई थी नंदलाल कुमार की गोली मारकर हत्या!

पटना(अजीत यादव): राजधानी पटना के नौबतपुर में होली के 1 दिन पहले हुई एक 19 वर्षीय युवक नंदलाल कुमार की हत्या मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है . नंदलाल कुमार की हत्या उसके ही दोस्त अंकित कुमार ने महज ₹1000 के बकाए मांगने के विवाद में कर दी थी पुलिस ने अंकित कुमार के कोर्ट में सरेंडर के बाद उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ की तो पूरी हत्याकांड में शामिल अपराधियों का नाम बताया जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया . कांड में शामिल सभी बदमाशों की गिरफ्तारी हम हत्याकांड में प्रयुक्त मोटरसाइकिल एक जैसे कटा हुआ जो जिंदा कारतूस के साथ चार मोबाइल भी बरामद किया है।

एडिशनल एसपी मनीष कुमार सिन्हा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में नंदलाल कुमार की हत्या कांड का खुलासा करते हुए बताया कि नौबतपुर थाना क्षेत्र के पलटू छतनी गांव में 7 मार्च को हुये नंदलाल उर्फ रौशन कुमार की हत्या मामले में नौबतपुर पुलिस ने बिहटा के कन्हौली से चार लोगों को गिरफ्तार किया है।गिरफ्तारी घटना के मुख्य अभियुक्त अंकित कुमार की निशानदेही पर की गई है। गिरफ्तार लोगो मे पिंटू कुमार,बिट्टू कुमार,अंकित कुमार एवं एक विधि विरुद्ध किशोर शामिल है।

Advertisements
Ad 2

चारों कन्हौली गांव के ही रहने वाले है।गिरफ्तार बदमाशों के पास से घटना में प्रयुक्त एक बाइक, एक पिस्तौल ,दो कारतूस एवं चार मोबाइल फोन बरामद किया गया है।घटना का मुख्य अभियुक्त अंकित 13 मार्च को ही कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। जिसे गुरुवार को पुलिस उसे रिमाण्ड पर लेकर नौबतपुर थाना आयी थी।गिरफ्तार युवकों ने हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार किया है। शुक्रवार को फुलवारी शरीफ स्थित अनुमंडल पुलिस कार्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में एएसपी मनीष कुमार ने बताया कि 7 मार्च की शाम को पलटू छतनी गांव में अपराधियों द्वारा नंदलाल की उस वक़्त गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

जब वह अपने चार अन्य दोस्तों के साथ छतनी बैंक के पास खड़ा होकर बातचीत कर रहा था।उसी दौरान तीन बाइक पर सवार बदमाशों द्वारा गोली मार दी गई थी।घटना में नंदलाल की मौत हो गई थी।घटना का कारण छह माह पूर्व रेगानिया बाग के भवानी यादव नामक व्यक्ति से किसी बात को लेकर विवाद बताया जाता है।घटना को लेकर मृतक के पिता लालबिहारी पासवान ने अंकित यादव,चंदन यादव , भवानी यादव, पिंकू यादव समेत नौ लोगों को नामजद करते हुये प्राथमिकी दर्ज कराया था। जिसमें अंकित कोर्ट में सरेंडर कर दिया था।जिसे पुलिस रिमांड पर लेकर नौबतपुर आयी थी।पूछताछ में उसने अपने साथियों का नाम लिया था।जिसके बाद गिरफ्तार किया गया।

Related posts

BREAKING : भीषण गर्मी को देखते हुए स्कूलों की छुट्टी बढ़ा दी गई

सीटी स्कैन सेंटर से अब तक लाभान्वित हो चुके हैं 30 हजार से अधिक लोग

जिले के 51 टीबी मरीजों को पौष्टिक आहार सेवन के लिए किया गया फूड वितरण