कलाकारों ने बताए सड़क दुर्घटना से बचने के उपाय

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): सर्वमंगला सांस्कृतिक मंच की (एस.एस.एम.) की साप्ताहिक नुक्कड़ नाटक श्रृंखला में महेश चौधरी द्वारा लिखित एवं निर्देशित “जीवन है अनमोल” की प्रस्तुति फुलवारी शरीफ में की गई। नाटक की शुरुआत सौरभ राज के स्वरबध्द गीत- सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा के लिए होती है सड़कों पर कैसे चलना है सुरक्षा नियम हम आज तुम्हें बताते हैं……. से की गई.

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह अभियान के 14वें दिन सड़क दुर्घटनाओं से बचने के लिए यह दिखाया गया कि ड्राइविंग करने से पहले लाइसेंस बनवाए और ड्राइविंग ट्रैफिक नियम को भली-भांति समझे। हेलमेट जरूर पहने क्योंकि इससे जीवन सुरक्षा होती है। शराब पीकर गाड़ी नहीं चलानी चाहिए। अगर बत्ती लाल हो तो चौक पर रुक जाना चाहिए। ओवर टेक ना करें। भूलकर भी हेडफोन लगाकर गाड़ी नहीं चलानी चाहिए। टेंशन में रहने के कारण भी सड़कों पर अक्सर दुर्घटना होती है इसलिए सूझबूझ से ड्राइव करें। ठंड का मौसम में कोहरे के कारण गाड़ी में लोग फॉग लाइट जलती है तो अपनी गाड़ी की दूरी बनाकर रखें। मोटर गाड़ी चलाने से पहले अपनी सुरक्षा के लिए सीट बेल्ट जरूर लगाएं तथा आगे बैठने वाले को भी लगा कर रखें। गाड़ी चलाने में कभी भी जल्दबाजी ना करें. थोड़ा लेट हो वो ठीक है लेकिन घर सुरक्षित पहुंचे क्योंकि घर में आपका इंतजार हो रही होती है.

आपकी जिंदगी अनमोल है इसलिए सावधानी से गाड़ी चलाएं। मंच के वरीय रंगकर्मी महेश चौधरी अभिभावकों से अपील किया कि 18 साल से कम उम्र के बच्चों को गाड़ी चलाने नहीं दे नहीं तो इसके लिए अभिभावक भी दंडित हो सकते हैं. नाटक के कलाकार महेश चौधरी मोनिका, सौरभ राज, अमन, आर्यन, प्रमोद, करण, नमन, यश, सांभवी, प्रीति, कामेश्वर थे।