बिहार

जिले के 01 से 19 वर्ष के सभी बच्चों को खिलायी जाएगी अल्बेंडाजोल की गोली

Advertisements
Ad 4

पूर्णिया(न्यूज क्राइम 24): राष्ट्रीय कृमि मुक्त दिवस कार्यक्रम की शुरुआत बुधवार को जिले के पूर्णिया पूर्व प्रखंड स्थित मध्य विद्यालय से सिविल सर्जन डॉ अभय प्रकाश चौधरी द्वारा विद्यालय में उपस्थित बच्चों को दवा खिलाकर की गई। गुरुवार को जिले के सभी स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में 01 से 19 वर्ष के बच्चों को कृमि मुक्त रखने के लिए अल्बेंडाजोल की दवा खिलाई जाएगी।

अभियान के दौरान किसी कारणवश दवा सेवन से वंचित बच्चों के लिए 20 मार्च को मॉपअप राउंड चलाया जाएगा। कार्यक्रम की शुरुआत में सिविल सर्जन डॉ अभय प्रकाश चौधरी के साथ आईसीडीएस डीपीओ रजनी गुप्ता, पूर्णिया पूर्व प्रखंड बीडीओ अमित आनंद, डीपीएम सुरेंद्र कुमार दास, डीसीएम संजय कुमार दिनकर, डीसीक्यूए डॉ. अनिल कुमार, एपिडेमियोलॉजिस्ट नीरज कुमार निराला, पूर्णिया पूर्व एमओआईसी डॉ. शरद कुमार, बीसीएम विभव कुमार सहित विद्यालय शिक्षक व छात्र-छात्राएं उपस्थित रहीं ।

कृमि संक्रमण से होने वाली विभिन्न परेशानियों से सुरक्षित रखेगा अल्बेंडाजोल :


कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सिविल सर्जन डॉ. अभय प्रकाश चौधरी ने कहा कि बच्चों में कृमि के संक्रमण से विभिन्न तरह की परेशानियाँ हो सकती हैं , जैसे शारीरिक वृद्धि में रुकावट, कमजोरी, भूख एवं एकाग्रता में कमी, खून की कमी (एनीया), थकान आदि । इन सभी परेशानियों को कृमि नियंत्रण की दवाई अल्बेण्डाजोल खिलाकर ठीक किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि डब्ल्यूएचओ के अनुसार यह एक सुरक्षित दवा है।

बिहार में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम का आयोजन हर वर्ष में दो बार किया जाता है। वर्ष 2023 में इसका संचालन 16 मार्च को किया जा रहा है। इस दौरान सभी स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केंद्रों में उपस्थित 01 से 19 वर्ष के बच्चों को दवाई खिलाई जाएगी। छूटे हुए बच्चों को मॉपअप राउंड द्वारा 20 मार्च को विद्यालय में ही कृमि नियंत्रण की दवाई खिलायी जाएगी। सिविल सर्जन ने सभी अभिभावकों से अपील की है कि उक्त तिथि को अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेजें ताकि उनके स्वस्थ्य एवं उज्ज्वल भविष्य हेतु कृमि नियंत्रण की दवाई खिलायी जाए।

Advertisements
Ad 2

सुरक्षित एवं उपयोगी दवा है अल्बेंडाजोल :


डीपीएम सुरेंद्र कुमार दास ने कहा कि कृमि नाशक दवा अल्बेंडाजोल बेहद सुरक्षित व उपयोगी दवा है जो 1 से 19 साल के सभी बच्चों को खिलायी जानी है। 1-5 साल के बच्चों को यह दवाई आंगनबाड़ी केंद्र एवं 6-19 साल के बच्चों को यह दवा स्कूलों में खिलाई जायेगी। स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों को संबंधित क्षेत्र की आशा व आंगनबाड़ी सेविका के माध्यम से उनके घरों में ही दवा सेवन कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि शिक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा व संबंधित एएनएम अपने सामने ही बच्चों को दवा का सेवन कराएंगे जिससे कि कोई भी बच्चा दवा सेवन से वंचित न रह सके।

जिले में 19 लाख से अधिक बच्चों को खिलायी जाएगी अल्बेंडाजोल की गोली :


डीसीएम संजय कुमार दिनकर ने बताया कि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम के दौरान जिले के 19 लाख 68 हजार 399 बच्चों को अल्बेंडाजोल की दवा खिलाई जाएगी। कार्यक्रम के शत प्रतिशत क्रियान्वयन के लिए जिले के सभी सरकारी व प्राइवेट विद्यालयों में स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा भ्रमण किया जाएगा। इसके साथ ही निजी कोचिंग संस्थानों में भी भ्रमण कर दवा से वंचित बच्चों को सेवन कराया जाएगा। 20 मार्च को मॉपअप राउंड के दौरान भी सभी संस्थाओं का पुनः भ्रमण कर वंचित बच्चों को दवा खिलाई जाएगी।

Related posts

गंगा किनारे शहरवासीयों ने लिया 1 जून को मतदान करने की शपथ

संफिक्स के नशे की गिरफ्त में मासूम का बचपन

ट्रांसफार्मर से तेल चोरी करते पकड़े गए तीन चोर, गिरोह का हुआ पर्दाफाश