बिहार

पटना में 25 हजार पुलिसकर्मियों को दी जा रही ट्रेनिंग

Advertisements
Ad 4

पटना, न्यूज़ क्राइम 24। सोमवार को बिहार पुलिस की ओर से नए कानून को लेकर पुलिस पदाधिकारियों को पटना के बापू सभागार में प्रशिक्षित किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम अगले तीन दिन तक चलेगा। जिसका उद्धघाटन बिहार के डीजीपी आरएस भट्टी ने किया। मुख्यालय एडीजी जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि इसमें 25 हजार पुलिसकर्मी प्रशिक्षण ले रहे हैं। ये अलग-अलग तीन फेज में चलेगा। वेब कास्टिंग के जरिए बिहार के लगभग सभी जिलों के एक तिहाई अनुसंधानकर्ता, सुपरवाइजिंग ऑफिसर इस कार्यक्रम से जुड़े हुए हैं। इन सभी को 1 जुलाई से लागू होने वाले भारतीय न्याय संहिता 2023, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता 2023, भारतीय साक्ष्य अधिनियम 2023 के बारे में गहन जानकारी दी जा रही है।

Advertisements
Ad 2

उन्होंने आगे बताया की बहुत जल्द कोर्ट से वारंट और कुर्की का ऑर्डर भी डिजिटल ही मिलेगा। सब कुछ डिजिटल होगा। इस दिशा में भी काम बहुत तेजी से चल रहा है। घटनास्थल की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी कैसे करानी है। इसके लिए विधि विज्ञान के विशेषज्ञ भी मौजूद हैं। इनके द्वारा पदाधिकारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी। पुलिस अपना डिजिटलाइजेशन पूरी कर ली है, अब सीसीटीएनएस को बहुत जल्द आईसीजेएस से जोड़ दिया जायेगा। यानी पुलिस पूरी तरह से डिजिटल होगी। अनुसंधान कर्ताओं को लैपटॉप और स्मार्ट फोन भी उपलब्ध कराया जाएगा। उन्हें इससे काम करने में काफी आसानी होगी।

Related posts

BREAKING : बिहार में बालू खनन पर लगी रोक

केंद्र सरकार नीट मामले में अपने लोगों और एनटीए को बचाने में लगी हुई है : एजाज अहमद

रुपौली विधानसभा उपचुनाव में एनडीए समर्थित जदयू प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित : उमेश सिंह कुशवाहा