फिल्मों से बॉलीवुड में अपनी धाक जमाने वाली एक्ट्रेस विद्या बालन आज 42 की हो गई

नई दिल्ली: परिणीता, ‘कहानी, डर्टी पिक्चर, कहानी-2 जैसी फिल्मों से बॉलीवुड में अपनी धाक जमाने वाली एक्ट्रेस विद्या बालन शुक्रवार को अपना 42वां जन्मदिन मना रही हैं। जहां 1 जनवरी 2021 को पूरा देश व विश्व नए साल के जश्न में डूबा है, तो वहीं विद्या नए साल के साथ साथ आज अपना जन्मदिन भी मनांएगी। विद्या बालन का जन्म मुंबई के चेम्बूर में तमिल परिवार में हुआ, विद्या के पिता पी.आर. बालन डिजिकेबल के कार्यकारी उपाध्यक्ष हैं। बता दें कि उनके घर में मलयालम और तमिल, दोनों भाषाओं में बात की जाती है और खास बात ये है कि विद्या अच्छी हिन्दी बोल लेती हैं.

माधुरी दीक्षित और शबाना आजमी से इंस्पायर्ड विद्या ने कम उम्र में ही बॉलीवुड में काम करने का मन बना लिया था। विद्या ने महज 16 साल की उम्र में ही एकता कपूर के टीवी सीरियल हम पांच से अपने करियर की शुरुआत की लेकिन विद्या अपना करियर फिल्मों में बनाना चाहती थीं। उनके माता-पिता ने उनके इस फैसले का समर्थन किया, लेकिन साथ ही पढ़ाई पूरी करने की शर्त भी रखी। विद्या के लिए फिल्मों में करियर बनाने की राह आसान नहीं थी। मलयालम और तमिल फिल्मों में कई प्रयासों के बाद भी वो असफल रहीं, विद्या को बांग्ला फिल्म भालो थेको से पहचान मिली। इस फिल्म में वद्या ने आनंदी का किरदार निभाया था। जिसके लिए उन्होंने सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का आनंदलोक पुरस्कार भी जीता। आपको बता दें कि विद्या बालन ने बॉलीवुड में अपना डेब्यू फिल्म परिणीता से किया है। जिसके बाद उन्होंने बॉलीवुड में ‘लगे रहो मुन्ना भाई’, ‘गुरु और सलाम-ए-इश्क’ जैसी कई हिट फिल्में कीं, लेकिन उन्हें आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। लेकिन साल 2007 में आई फिल्म ‘भूल-भुलैया’ उनके करियर के लिए मील का पत्थर साबित हुई। इस फिल्म में उन्होंने लीड़ एक्ट्रेस का रोल प्ले किया। ये काफी चैलेनजिंग किरदार था। इसके बाद 2009 में आई फिल्म ‘पा’ और विशाल भारद्वाज की ‘इश्किया’ में अपने अभिनय के लिए विद्या को बेस्ट एक्ट्रेस फिल्मफेयर का अवॉर्ड भी मिला.

जिसके बाद उनकी सफलता के दरवाज़े खुल गए। इसके बाद उन्हें साल 2011 में आई फिल्म ‘द डर्टी पिक्चर’ के लिए बेस्ट एक्ट्रेस के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला था। बता दें कि विद्या ने एक इंटरव्यू में कहा था, ‘डर्टी पिक्चर में सिल्क स्मिता के किरदार में ढल पाना मेरे लिए थोड़ा मुश्किल था। हम दोनों का व्यक्तित्व एक-दूसरे से बिल्कुल अलग था, लेकिन सिल्क के किरदार ने मुझे मेरे अंदर के एक नए पहलू से मिलावाया। इसे निभाने के दौरान मैं अपने अंदर की हिचकिचाहट और डर से निकल पाई।’ वहीं साल 2012 में आई सुजॉय घोष की फिल्म कहानी में विद्या बालन ने गर्भवती महिला का किरदार निभाया था जिसकी हर जगह प्रशांसा हुई।