उत्तरप्रदेश

पंखे के हुक से लटकता मिला युवक का शव, जांच में जुटी पुलिस!

Advertisements
Ad 4

बलिया(संजय कुमार तिवारी): गड़वार थाना क्षेत्र के बाराबांध गांव में गुरुवार की रात गांव निवासी 24 वर्षीय युवक पंखे के हुंक में शाल का फन्दा बनाकर झुल गया। एक तरफ जहां पूरा देश नए वर्ष के आगमन को लेकर जश्न मनाने की तैयारी में जुटा था वहीं एक मां ने अपने कलेजे के टुकड़े को फांसी के फन्दे पर लटकता देख बेसुध हो गई। मिली जानकारी के मुताबिक गड़वार थाना क्षेत्र के बाराबांध गांव निवासी विदेशी राजभर का 24 वर्षीय पुत्र अमित राजभर उर्फ गोलू अपने चाचा उदेशी राजभर के साथ टेन्ट लगाने का काम करता था। टेन्ट का सारा सामान बगल के गणेश उपाध्याय के यहां अहाते में बनी कोठरी में रखा जाता है। जहां उसकी रखवाली करने के लिए रोज की भांति मृतक गोलू वहीं पर सोता था। गुरुवार को भी रात में वह अपने घर से 9 बजे खाना खाकर टेन्ट के सामान की रखवाली करने के लिए चला गया। गुरुवार को दिन में बाजार से नए वर्ष में विशेष पकवान बनाने के लिए बाजार से सामान खरीद कर मां को दिया था कि कल हम भाई बहन मिलकर नए साल का जश्न मनाएगें लेकिन ऐसा हो ना सका ।शुक्रवार की सुबह 5 बजे उसकी छोटी बहन 13 वर्षीय रीमा उसे जगाने के लिए गई तो वहां पर शाल के फन्दे के सहारे पंखे की हुंक में अपने भाई को लटका ‘देख डर गई और चिल्लाते हुए घर पहुंची और यह घटना अपनी मां रम्भा देवी एवं भाई को बताई। आनन फानन में परिजन और आसपास के लोग मौके पर पहुंचे तो वहां का नजारा देख हतप्रभ हो गए। और उसे फांसी के फन्दे से नीचे उतारा तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर चौकी प्रभारी रतसर रामअवध अपने हमराही के साथ घटना स्थल पर पहुंच मुआयना किया तथा मृतक के चाचा उदेशी राजभर के तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर शव का पंचनामा कराया तथा पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। बताते चलेकि मृतक के पिता विदेशी राजभर आसाम में मजदूरी का काम करते है। घर पर उसका छोटा भाई टेंगर राजभर (15) छोटी बहन रीमा (13) तथा मां रम्भा देवी रहती थी। मृतक अपने चाचा उदेशी राजभर के साथ मिलकर टेन्ट हाउस का कारोबार करता था। टेन्ट हाउस के सामान की रखवाली करने के रोज वहीं पर सोता था। रोते हुए उसकी मां रम्भा देवी ने बताया कि नया साल मनाने के लिए बाजार से सामान लाकर दिया था कि कल घर में विशेष पकवान बनाकर नया साल मनाएगें । उसका लाया हुआ सामान दिखाकर उसकी मां दहाड़े मारकर रो रही थी। मां के जिगर का लाल का नए वर्ष में इस तरह से जाना पूरे गांव के लोगों को झकझोर के रख दिया है। परिजनों ने इसकी सूचना मृतक के पिता को भी दे दिया है।

Advertisements
Ad 2

Related posts

चुनाव के दौरान 17 वर्षो बाद याद आए भृगु मुनि : बीजेपी प्रत्याशी नीरज शेखर

बीएसपी के प्रत्याशी का जोरदार स्वागत, बीएसपी प्रत्याशी बीजेपी प्रत्याशी पर बोला हमला

बलिया लोकसभा सीट से बीजेपी ने नीरज शेखर को बनाया प्रत्यासी