पटना-गया सड़क चौड़ीकरण में ध्वस्त हुआ गौरीचक पुल पर बना वर्षो पुराना सूर्य मंदिर

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): पटना गया सड़क चौड़ीकरण के दौरान गौरीचक में पुनपुन नदी तट पर हाइवे किनारे पुल के पास बना वर्षो पुराना सूर्य मंदिर कमरजी ध्वस्त हो गया। सूर्य मंदिर कमरजी के ध्वस्त करने के तरीके से स्थानीय ग्रामीणों में जिला प्रशासन सड़क निर्माण कंपनी के खिलाफ गहरा आक्रोश का माहौल है। हालांकि जिला प्रशासन ने अलग स्थान चिन्हित करके भव्य सूर्य मंदिर निर्माण कराने का आश्वासन भी दिया है । सूर्य मंदिर के पुजारी अमर सिंह ने बताया कि पुनपुन में देश विदेश से पिंडदान करने आने वालों हजारों लोगों के लिए वर्षों से श्रद्धा और आस्था का केंद्र बना यह सूर्य मंदिर अब इतिहास के पन्नो में खो गया । उन्होंने कहा कि प्रशासन और निर्माण कंपनी को पहले ही बता दिया गया था कि जिस तरीके से सड़क चौड़ीकरण और पुल निर्माण के लिए गड्ढा खोदा जा रहा है उससे मंदिर कभी भी धराशायी हो सकता है और वहां काम कर रहे मजदूरों को क्षति पहुंच सकती है ,ऐसी स्थिति से बचने के लिए एहतियात बरतने की जरूरत है । इसके अलावा स्थानीय ग्रामीणों के आस्था को देखते हुए मंदिर को हटाने के लिये पूजा पाठ करने का समय देना चाहिए था ताकि श्रद्धा पूर्वक मंदिर की सम्पत्ति को अन्यत्र स्थापित करने का काम किया जा सके। स्थानीय ग्रामीणों में नाराजगी इस बात को लेकर ही है कि जिस तरीके से एकाएक निर्माण कार्य के दौरान सूर्य भगवान के मंदिर को ध्वस्त किया गया वह न्यायसंगत नही ठहराया जा सकता है। इस बारे में ग्रामीणों के हवाले से जानकारी मिली है कि जिला परिषद अध्यक्ष अंजू देवी को जिला प्रशासन की ओर से आश्वासन दिया।गया है कि अन्यत्र स्थान चिन्हित करके भव्य सूर्य मंदिर का निर्माण कराया जाएगा ।      वही लोगो की नाराजगी को देखते हुए बुधवार से ही धराशायी सूर्य मंदिर के पास में एक स्थान चिन्हित कर वहाँ भव्य सुर्य मंदिर निर्माण के लिये मिट्टी समतल करने का कार्य जिला प्रशासन ने शुरू करा दिया है। इस बारे में मंदिर के पुजारी अमर सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन पास में पीछे के हीस्से में मंदिर निर्माण के लिए जमीन चिन्हित किया है और वहाँ जमीन समतल कराया जाना भी शुरू कर दिया गया है।