जिले में गरीब मजदूरों को भी मिलेगा आयुष्मान भारत गोल्डेन कार्ड का लाभ

  • श्रम विभाग द्वारा सूचीबद्ध श्रमिकों के लिए बनाया जा रहा गोल्डेन कार्ड
  • सूचीबद्ध अस्पतालों में 05 लाख तक का मुफ्त इलाज करवा सकते हैं मजदूर परिवार
  • गोल्डेन कार्ड धारकों को विभिन्न बीमारियों के मुफ्त इलाज की सुविधा का मिलता है लाभ

पूर्णिया(रंजीत ठाकुर): जिले में आम मजदूरों को भी अब आयुष्मान भारत द्वारा उपलब्ध कराया जा रहे गोल्डेन कार्ड की सुविधा का लाभ मिल सकेगा। इसके लिए श्रम विभाग द्वारा गरीब मजदूरों की सूची जारी की गई है जिन्हें 05 लाख रुपए तक की स्वास्थ्य बीमा का लाभ उठाने के लिए गोल्डेन कार्ड दिया जा रहा है। जिले में बहुत से श्रमिकों को गोल्डेन कार्ड उपलब्ध करा दिया गया है। अन्य सूचीबद्ध श्रमिकों को भी जल्द ही गोल्डेन कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए स्वास्थ्य एवं श्रम विभाग द्वारा सूचना दी जा रही है।

पूर्णिया पूर्व प्रखंड के सूचीबद्ध श्रमिकों को उपलब्ध करा दी गई गोल्डेन कार्ड :
आयुष्मान भारत के जिला कार्यक्रम समन्वयक नीलाम्बर कुमार ने बताया पूर्णिया जिले के पूर्णिया पूर्व प्रखंड के सूचीबद्ध मजदूरों को इस सुविधा के तहत गोल्डेन कार्ड उपलब्ध करा दिया गया है। अन्य प्रखंड में भी सूचीबद्ध श्रमिकों को सूचित किया जा रहा है। सूचीबद्ध श्रमिक अपने नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में गोल्डेन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इन कागजातों द्वारा श्रमिक बना सकेंगे अपना गोल्डेन कार्ड :
आयुष्मान भारत के जिला आईटी मैनेजर अजीत कुमार ने बताया गोल्डेन कार्ड बनवाने के लिए सूचिबद्ध श्रमिकों को स्थानीय श्रम विभाग द्वारा सूचना दी जाती है। उक्त सूचना के बाद सम्बंधित श्रमिक अपने श्रम कार्ड व आधार कार्ड के साथ गोल्डेन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया श्रमिकों को गोल्डेन कार्ड बनवाने के लिए राशन कार्ड की जरूरत नहीं है।

गोल्डेन कार्ड धारकों को विभिन्न बीमारियों के मुफ्त इलाज की सुविधा का मिलता है लाभ :

आयुष्मान भारत के तहत लोगों को उपलब्ध कराए जा रहे गोल्डेन कार्ड द्वारा लोग सूचीबद्ध अस्पतालों में विभिन्न बीमारियों का इलाज मुफ्त करवा सकते हैं। इस योजना के द्वारा गोल्डेन कार्ड धारकों को प्रतिवर्ष 05 लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त में किया जा सकता है। आयुष्मान भारत योजना के तहत हड्डी, बर्न, नसबंदी, प्रसव, नवजात शिशु, इमरजेंसी रूम पैकेज, जानवर के काटने पर इलाज, शरीर के अंग टूटने पर प्लास्टर, फूड प्वाइजनिंग, नवजात शिशु, जनरल सर्जरी, जनरल मेडिसिन सहित लगभग 1591 तरह के विभिन्न बीमारियों का इलाज़ निःशुल्क करने के लिए सरकार व गैर सरकारी अस्पतालों का चयन किया गया है।

जानिए क्या है आयुष्मान भारत योजना :
आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थी परिवार पैनल में शामिल सरकारी या गैर सरकारी अस्पतालों में प्रति वर्ष अधिकतम 5 लाख रुपए तक कैशलेस इलाज निःशुल्क करा सकते हैं।. इस योजना का लाभ लेने के लिए उम्र की कोई बाध्यता या परिवार के आकार को लेकर कोई बंधन नहीं है। आयुष्मान भारत योजना को संचालित करने वाली नेशनल हेल्थ एजेंसी ने एक वेबसाइट और हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है।. इस योजना के लाभार्थी अपना नाम खुद भी mera.pmjay.gov.in वेबसाइट पर देख सकते हैं या फ़िर हेल्पलाइन नंबर 14555 पर कॉल के माध्यम से जानकारी ले सकते है।