ASI को डिमोट कर उसी थाने में बनाया सिपाही किशनगंज SP!

पटना: बिहार में लगातार बढ़ते अपराध और खाकी पर लगते घूसखोरी के इल्ज़ाम के बीच एक युवा IPS अधिकारी ने बेहद सख्त एक्शन लेते हुए एक पुलिसवाले को डिमोट कर दिया है। एसपी साहब के इस सख्त कदम की शहर में चहुओर और सोशल मीडिया पर जोरदार चर्चा हो रही है।

बिहार सरकार की रिश्तखोरी के खिलाफ अपनी ज़ीरो टॉलरेंस की नीति एक बार फिर कायद करने की शुरुआत की गई है।इसके तहत भ्रष्ट पुलिस कर्मियों पर गाज गिराने का काम शुरू हो गया है।इसका श्रीगणेश करते हुए किशनगंज के एसपी कुमार आशीष ने गंधर्वडांगा थाने में तैनात एक एएसआई को डिमोट कर सिपाही बना दिया गया है।जांच में एएसआई पर लापरवाही और भ्रष्‍टाचार में लिप्त पाया गया है।

गंधर्वडांगा थाने में ही बना सिपाही

गंधर्वडांगा थाने एएसआई आरडी प्रसाद को एएसआई से सिपाही बना दिया गया है। अब ASI का रुतबा कम हो गया।वह अब बतौर एक सिपाही की हैसियत से काम करेंगे। एएसआई का 6 माह पहले ही किशनगंज थाना से तबादला हुआ था।लेकिन अपी आदतों में सुधार नहीं कर रहा था।

रेप पीड़िता से केस दर्ज से मांगा था पैसा

बताया जा रहा है कि किशनगंज थाना में रहने के दौरान आरडी प्रसाद ने रेप पीड़िता का केस दर्ज नहीं कर रहा था।इसके एवज में पैसा मांग रहा था। जब इसकी शिकायत पीड़िता ने SP से की तो एसडीपीओ को जांच का आदेश दिया था. जांच में आरोप सही साबित होने पर एसपी ने एएसआई से सिपाही के पद पर डिमोशन कर दिया।लोगों को भी उम्मीद है कि इस तरह की कार्रवाई से तमाम पुलिस कर्मियों की आदत में सुधार होगा। जिससे आम लोगों की परेशानी कम होगी।