सीबीआई की ताबड़तोड़ छापेमारी, अवैध कोयला कारोबार के खिलाफ हो रही है छापेमारीA

राँची(न्यूज़ क्राइम24): अवैध कोयला कारोबार के खिलाफ सीबीआई की बड़ी कार्रवाई जारी है।अवैध व्यापार और कोयले की चोरी के आरोपों को देखते हुए सीबीआई की टीम ने झारखण्ड,पश्चिम बंगाल,उत्तर प्रदेश और बिहार में एक साथ 45 ठिकानों पर छापेमारी की है। इस मामले में ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड,रेलवे, सीआईएसएफ के अधिकारियों और निजी व्यक्तियों के खिलाफ मामले भी दर्ज किए गये हैं।मिली जानकारी के अनुसार सीबीआइ ने यह कार्रवाई कथित रूप से कोयला माफिया और रिश्वतखोरी के मामलों को देखते हुए की है. पश्चिम बंगाल के आसनसोल में रहने वाले अनूप माझी को इस अवैध कोयला व्यापार का किंगपिन बताया जा रहा है. उसके कार्यालयों और सहायकों के प्रतिष्ठानों पर सीबीआइ ने छापेमारी की है।बंगाल के अलावा उत्तरप्रदेश, झारखण्ड और बिहार में भी छापेमारी की गयी है।झारखण्ड के धनबाद जिला के निरसा स्थित ठीकानों पर छापामारी की गयी है। छापामारी के दौरान जाली कागजात, टोकन समेत अन्य दस्तावेज बरामद किये गये हैं।

बंगाल पुलिस की भी संलिप्तता आ रही है सामने-

इस पूरे मामले में बंगाल पुलिस की भी संलिप्तता सामने आयी है.पश्चिम बंगाल में आसनसोल के अलावा, बर्दमान जिले के दुर्गापुर, रानीगंज और दक्षिण 24 परगना जिले के बिष्णुपुर समेत अन्य जगहों पर तलाशी जारी है. यहां सीबीआई ने जिन लोगों को आरोपी बनाया है उनमें अमित कुमार धर, जयेश चंद्र राय, तन्मय दास, धनंजय राय, देवाशीष मुखर्जी और अनूप मांझी शामिल हैं।