ताजा खबरेंबिहार

भू खनन माफियाओं के द्वारा खुलेआम नदी किनारे से मिट्टी काटकर बेचा जा रहा!

अररिया(रंजीत ठाकुर): फारबिसगंज अनुमंडल क्षेत्र अंतर्गत मिरगंज, अमोना , सोनापुर, सुरसर, घूरना, आदि जगहों के नदियों के किनारे से भू खनन माफियाओं के द्वारा मिट्टी खनन कर बेचा जा रहा है। जिस पर किसी भी संबंधित पदाधिकारियों का ध्यान नहीं है । जिस कारण प्रतिवर्ष इन क्षेत्रों में ग्रामीणों को बाढ़ का सामना करना पड़ रहा है। कुछ दिन पूर्व30 नवंबर को भू खनन माफियाओं के द्वारा अवैध रूप से मिरगंज स्थित परमान नदी के किनारे से अवैध तरीके से मिट्टी काटकर हाईवा ट्रक से बेचने के क्रम में जिला खनन पदाधिकारी अनूप त्रिपाठी के द्वारा कार्यवाही करते हुए जोगबनी थाना में मामला दर्ज कराया गया था। परंतु खनन माफियाओं में जरा भी खौफ नहीं देखा जा रहा है. इसी कड़ी में आज शनिवार को सोनापुर पंचायत के बूढ़ी नदी में लगातार कई दिनों से भू खनन माफियाओं के द्वारा खनन किया जा रहा है। प्रत्येक दिन लगभग 20-25 की संख्या में हाईवा ट्रक से मिट्टी ढुलाई कर बेचा जा रहा है. वहीं इस संबंध में जिला खनन पदाधिकारी अनूप त्रिपाठी से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि जब तक मुझे लिखित सूचना नहीं मिलेगा तब तक हम कोई कार्यवाही नहीं करेंगे ।मोबाइल के सूचना पर हम किसी प्रकार का कोई कार्यवाही नहीं कर पाएंगे। वहीं स्थानीय कुछ ग्रामीणों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर उन्होंने बताया कि खनन माफियाओं से सबंधित पदाधिकारी मिले हुए हैं इसलिए सूचना देने पर नहीं आते हैं। वहीं ग्रामीण धीरज भगत,सुनील भगत, मोहम्मद इस्माइल, मोहम्मद रजा बुल, बसंत पंडित आदि ग्रामीणों ने बताया कि अगर खनन माफियाओं के द्वारा इसी प्रकार प्रत्येक दिन नदी से मिट्टी काटा गया तो आने वाले समय में नदी अपना दिशा बदल सकती है एवं करोड़ों की लागत सीमा रोड में बने नवनिर्मित फुल भी क्षतिग्रस्त हो सकता है। और आसपास के इलाके में भयावह बाढ़ का संकट भी आ सकता है। अभी जरूरत है पदाधिकारियों को इस पर ध्यान देने की।

Advertisements
Ad 2

Related posts

भीषण गर्मी और लू को लेकर फिर बदला पटना के स्कूलों का समय

बसमतिया पुलिस व एसएसबी जवान ने संयुक्त अभियान चलाकर गाजा के साथ तस्कर को किया गिरफ्तार!

फुलकाहा एसएसबी के जवानों ने 48 किलो गाजा के साथ अपाचे बाइक किया जप्त, तस्कर अंधेरे का लाभ उठा कर भाग गया