फूलवारी में वकील के भाइयों ने वकील मेहर अनवर को किया सुपुर्द ए खाक

फूलवारीशरीफ(अजित यादव): मसौढी कोर्ट के अधिवक्ता 55 वर्षीय मो मेहर अनवर की नालन्दा के एकंगरसराय में अपने दोस्त अधिवक्ता राकेश के बेटे की बारात में शामिल होकर पांच छह लोगों के साथ वापस लौट रहे थे तभी गांव से करीब दो किलोमीटर दूर घेरकर बदमाशो ने मारपीट कर दी । ईस मारपीट में अधिवक्ता मेहर अनवर की मौत हो गयी और अन्य लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे । बारात में भी बाराती और गांव वालों के बीच मारपीट एवम गोलीबारी की खबर है । वहीं अधिवक्ता मेहर अनवर की हत्या की खबर मिलते ही मसौढी से लेकर फूलवारी तक परिजनों में कोहराम मच गया ।
घटना के बारे में बताया जा रहा है कि मृतक वकील मसौढ़ी व्यवहार न्यायालय में काम करते थे. वह रहमतगंज के रहने वाले थे. वह एक बारात नालंदा गए थे. युवक स्टेज पर चढ़ गए और डांसरों के साथ छेड़खानी करने लगे. इसका विरोध वकील समेत कई लोगों ने किया. जिससे विवाद बढ़ गया. उन युवकों को बारात पार्टी ने दो-चार थप्पड़ मार दिए. जिसके बाद युवक वहां से चले गए और दनियावां मोड़ के पास करीब तीन दर्जन लोग बारात पार्टी से बदला लेने के लिए लाठी-डंडे के साथ घात लगाकर बैठ गए. जैसे ही बारात लौट कर आई तो वकील पर हमला कर हत्त्या कर दिया. वहीं अधिवक्ता मेहर अनवर की हत्या की खबर मिलते ही मसौढी से लेकर फूलवारी तक परिजनों में चित्कार मच गया। इनके तीन भाई फूलवारी में वर्षो से रहते हैं वही एक भाई सादाब दुबई में रहते हैं जबकि सबसे छोटे भाई नदीम अखबार में रिपोर्टर है । अधिवक्ता मेहर पांच भाइयो में दूसरे नम्बर पर थे । इनके बड़े भाई मो खुर्शीद , डॉक्टर शकील अहमद , दुबई में रहने वाले भाई मो सदाब एवम छोटे भाई नदीम के घर मातम का माहौल हो गया। अधिवक्ता मेहर अनवर की पत्नी अनीश फातमा व दो बेटी एक बेटा है.

इस हमले में घटनास्थल पर ही वकील की मौत हो गई है. जबकि हमले में 5 लोग घायल हो गए है. सभी घायलों को स्थानीय हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. वकील के परिजनों ने 8 अज्ञात युवकों पर केस दर्ज कराया है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है.वहीं मृतक वकील के सबसे छोटे भाई पत्रकार नदीम के घर अधिवक्ता मेहर अनवर का शव बिहार शरीफ के हॉस्पिटल से पोस्टमार्टम के बाद पहुंचा तो यहाँ माहौल भी गमगीन हो गया। शोक संतप्त परिजनों को ढांढस बंधाने लोगों की भीड़ जुट गई। परिजनों व मित्रो ने बताया कि अधिवक्ता मेहर अनवर मसौढी कोर्ट में ही वकालत करते थे और गांव वाले घर पर ही मसौढी में रहते थे। दो दिन पहले भी फूलवारी अपने परिजनों से मिलकर गए थे । देर शाम पत्रकार नदीम के घर से मंझले भाई अधिवक्ता मेहर अनवर का जनाजा गमगीन माहौल में फूलवारी शरीफ के हाजी हरमैन कब्रिस्तान पहुँचा जहां उन्हें सुपुर्द ए खाक किया गया। मिलनसार स्वभाव के अधिवक्ता मेहर अनवर के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो रहा था वही नाते रिश्तेदारों मित्रो सामाजिक राजनीतिक क्षेत्र के लोगो का सांत्वना देने का तांता लगा रहा । माले विधायक गोपाल रविदास भी मृतक अधिवक्ता के जनाजे में शामिल हुए । विधायक ने कहा कि वे वकील मेहर अनवर के बचपन से मित्र रहे हैं क्योंकि विधायक गोपाल रविदास भी मसौढी के ही मूल निवासी है।