झारखण्ड

पत्थर खदान में लगी पोकलेन को जलाया, घटना स्थल पर पीएलएफआई नाम से छोड़ा पर्चा, पुलिस छानबीन में जुटी है!

पलामू(न्यूज़ क्राइम24): नक्सली और उग्रवादियों के तांडव जारी है।उग्रवादी इस कदर हावी है कि हर दूसरे दिन कोई ना कोई घटना को अंजाम दे रहा है कहीं आगजनी तो कहीं गोली चलाने की तो कहीं रंगदारी मांगी जा रही है।देर रात पत्थर खदान में लगी पोकलेन को किया आग के हवाले कर दिया है। और घटनास्थल पर पीएलएफआई संगठन का पर्चा छोड़ा गया है. यह घटना जिले के पिपरा थाना क्षेत्र की सुखनदिया नदी के पास हुई है. जहां पत्थर माइंस में लगी एक पोकलन मशीन को आग के हवाले कर दिया गया. घटना में अपराधी या फिर उग्रवादियों का हाथ है, इसकी जांच में पुलिस जुटी है।घटनास्थल पर पीएलएफआ ईनाम से पर्चा छोड़ा गया है।जिसे सचिव महिमा गोप के हस्ताक्षर से जारी किया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार पीएलएफआई के नाम से छोड़े गए पर्चा के माध्यम से सभी खदान संचालकों को सावधान किया गया है. कहा यदि नियम से खदान का संचालन नहीं किया और मजदूरों का भुगतान नहीं किया तो अंजाम भुगतने के के लिए तैयार रहें. शुक्रवार की देर रात नितिन गुप्ता के पत्थर माइंस के कार्य में लगे पोकलेन को आग के हवाले कर दिया. इस घटना में शामिल लोगों की संख्या 10 से 15 के बीच बतायी जा रही है।

Advertisements
Ad 2

पोकलेन में आग लगाने की घटना के पीछे किसकी हाथ है पुलिस जांच में जुटी है।पुलिस के द्वारा जांच किया जा रहा है कि घटना के पीछे किसका हाथ है।इस मामले में आशंका जताई जा रही है कि माइन्स संचालक से रंगदारी वसूलने की नीयत से इस घटना को अंजाम देने की बात कही जा रही है. पुलिस सभी पहलुओं की छानबीन में जुटी है।

Related posts

गुरु गोविंद सिंह जयंती मनाई गई 357 जयंती मनाई गई

BIG BREAKING : चंपई सोरेन बने झारखंड के मुख्यमंत्री

बड़ी ख़बर : हेमंत सोरेन का इस्तीफा, चंपई सोरेन होंगे राज्य के नए सीएम

error: