नरपतगंज प्रखंड स्तरीय बाल संरक्षण समिति की बैठक!

अररिया(रंजीत ठाकुर): जिला बाल संरक्षण इकाई अररिया के मार्गदर्शन में प्रखंड स्तरीय बाल संरक्षण समिति की बैठक प्रखंड प्रमुख कंचन माला देवी के अध्यक्षता में नरपतगंज प्रखंड में किया गया.

इस कार्यक्रम में सहअध्यक्ष रंजीत कुमार सिंह प्रखंड विकास पदाधिकारी रंजीत कुमार सिंह नरपतगंज ,श्वेता कुमारी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी नरपतगंज , प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी ,प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ,संजय कुमार अध्यक्ष जागरण कल्याण भारती सहसंयोजक सीसीएचटी पूर्णिया प्रमंडल सह जिला नोडल मास्टर ट्रेनर जिला बाल संरक्षण इकाई अररिया ,ओमप्रकाश सिंह बचपन बचाओ , संलाप संस्था कोलकाता सुधांशु कुमार वर्मा बिट्टू कुमार यादव एवं पंचायत समिति सदस्य ,मुखिया संघ के अध्यक्ष अशोक प्रिंस, नरपतगंज प्रखंड के मुखिया गण ने भाग लिया। मुख्य अतिथि के रूप में राजू कुमार सहायक निदेशक जिला बाल संरक्षण इकाई अररिया सह अपर अनुमंडल पदाधिकारी अररिया ने बाल संरक्षण इकाई समिति के संदर्भ में विस्तार से जानकारी दी कि प्रखंड स्तर पर किन की क्या भूमिका है कौन-कौन लोग कमेटी के सदस्य हो सकते हैं. उसी तरह पंचायत स्तर पर मुखिया के अध्यक्षता में सीपीसी का गठन किया जाएगा जिसमें मुखिया अध्यक्ष एवं उनके अंतर्गत जो सदस्यों में वार्ड लेवल पर वार्ड सदस्य के अध्यक्षता में सीपीसी का गठन करना है।और बाल श्रमिक को चिन्हित का सरकार के सुविधाओं से लाभ दिलवाना है प्रखंड प्रमुख संबोधित करते हुए उपस्थित सदस्यों को बताया कि कोविड-19 नरपतगंज प्रखंड के लगभग 700 बच्चों को चिन्हित किया गया है कुल 29 पंचायतों में आप सभी जनप्रतिनिधियों से अनुरोध है उनको चिन्हित कर सरकार की योजनाओं से उनको लाभ दिलाने में अपना सहयोग दें यह सहयोग तभी आप दे सकते हैं जब आपके पंचायत वार्ड में सीपीसी का गठन हो जाएगा ।

प्रखंड विकास पदाधिकारी ने अपने संबोधन में कहा कि आप सब जन प्रतिनिधि 7 जनवरी 2021 तक पंचायत एवं वार्ड स्तर पर सीपीसी का गठन कर ले और सरकार के मापदंड के अनुसार बच्चों को सुविधा दिलाने में अपना सहयोग प्रदान करें.

मुखिया संघ के अध्यक्ष अशोक प्रिंस ने कहा कि नरपतगंज प्रखंड के बाल श्रमिक यदि दूसरे प्रदेश में जाते हैं काम करने के लिए तो सबसे महत्वपूर्ण भूमिका उनके माता-पिता की होती है भेजने में उसका मुख्य कारण है.

जीविकोपार्जन से बाध होकर माता पिता अपने बच्चों को काम में भेजते हैं सरकार ने यह योजना लाई है इसमें हम सभी मुखिया गण सभी वार्ड सदस्य और वार्ड पंचायत के सभी नागरिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाकर बाल श्रमिक को मुक्त करने में नरपतगंज प्रखंड को जिला में पहला स्थान प्राप्त करेंगे जो बाल श्रम मुक्त प्रखंड कहलाए गा। वही संजय कुमार जिला नोडल प्रशिक्षक बाल संरक्षण इकाई अररिया ने उपस्थित सदस्यों को सीपीसी के गठन उसके काम करने की शैली इत्यादि पर विस्तार से जानकारी दी।