जीते को वनवास, हारे को राज..!

अररिया(रंजीत ठाकुर): वर्ष 2016 में हुवे पंचायत चुनाव में एक बड़ीअनियमितता सामने आई है । फारबिसगंज प्रखंड क्षेत्र के बथनाहा पंचायत वार्ड संख्या 6 के जीते हुवे वार्ड सदस्या प्रत्याशी के बदले हारे हुए प्रत्याशी को जीत का प्रमाण पत्र दे दिया गया। मामले का उदभेदन होने के बाद 23 दिसंबर को सीता देवी ,पति – सम्पत पोद्दार के द्वारा प्रखंड विकास पदाधिकारी फारबिसगंज को लिखित आवेदन देते हुवे जाँच कर न्याय दिलाने का अनुरोध किया है. उन्होंने आवेदन के साथ बिहार इलेक्शन कमीशन के वेबसाइट पर वर्ष -2016 के पंचायत चुनाव में विजयी प्रत्याशी के नाम को अपलोड किए गए सूची का भी कॉपी संलग्न किया है । जिस सूची में सीता देवी ,पति – सम्पत पोद्दार को 156 वोट व सीता देवी ,पति -रविंद्र मंडल को 64 वोट दिखाया गया है । वहीं-
तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले प्रत्याशी को जीत का प्रमाण पत्र ——— वर्ष 2016 के पंचायत चुनाव में वार्ड संख्या 6 में कुल चार प्रत्याशी चुनाव लड़े जिसमे लक्ष्मी देवी ,पति – विजय स्वर्णकार को 43 ,संयुक्ता देवी ,पति – माधवकांत झा को 120 ,सीता देवी ,पति – सम्पत पोद्दार को 156 व सीता देवी ,पति – रविंद्र मंडल को महज 64 वोट राज्य निर्वाचन आयोग के वेबसाइड पर दिखलाया जा रहा है । लेकिन सर्वाधिक वोट प्राप्त करने वाले सीता देवी ,पति – सम्पत पोद्दार को जीत का प्रमाण पत्र न देकर तत्कालीन प्रखंड विकास पदाधिकारी सह पंचायत निर्वाचन पदाधिकारी फारबिसगंज विजय कुमार चंद्रा के द्वारा तीसरे स्थान पर रहे सीता देवी ,पति – रविंद्र मंडल जिन्हें चुनाव में महज 64 वोट प्राप्त करने वाले प्रत्याशी को जीत का प्रमाण पत्र प्रदान दिया गया.

वहीं चुनाव आयोग के वेबसाइट पर देखने के बाद मामले का उदभेदन- सीता देवी , पति – सम्पत पोद्दार ने कहा कि मतगणना के बाद हमें बताया गया कि आप चुनाव हार गए है जिसके बाद हमलोग घर लौट कर आ गए । लेकिन कुछ दिनों पहले मेरे पुत्र सुमित कुमार पोद्दार के द्वारा कंप्यूटर पर जब पंचायत चुनाव आयोग का वेबसाइट को खोल कर देखा तो पता चला कि चुनाव में सर्वाधिक वोट मुझे ही मिले थे तथा मैं वार्ड चुनाव में जीत हासिल की हूँ । जिसके बाद न्याय के लिए पदाधिकारियों से गुहार लगाई हूँ।