किसानों की आड़ में विपक्षी दलों का भारत बंद को भाजयुमो ने सुपर फ्लॉप बताया!

अररिया(रंजीत ठाकुर): किसानों की ओट में विपक्षी दलों द्वारा आयोजित आज का भारत बंद सुपर फ्लॉप साबित हुआ,इस दौरान असली अन्नदाता बंद में नहीं खेत खलिहान में दिखे। जबकि संसद से नगर-निगम तक के चुनावों में भाजपा की विजय से हताश ओर नाकाम विपक्ष भारत बंद आंदोलन के ओट में रोड पर हुड़दंगी ताकत का प्रदर्शन तक सिमटा रहा।किसानों के आड़ में विपक्षी दलों के बंद की साजिश को देश ने नकार दिया।उक्त बातें भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार ने भारत बंद पर आज मंगलवार को अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यहाँ पत्रकारों से कही. श्री कुमार ने कहा कि खेत में किसान और सीमा पर जवान मोदी सरकार में सबसे अधिक खुश हैं। मोदी सरकार शत प्रतिशत धरती पुत्रों के लिए समर्पित सरकार है, पर किसान के आड़ में देशद्रोही ,खालिस्तानी, पाकिस्तानी, राजनीतिक पार्टियां कुछ किसानों को बरगला ओर भड़का कर अपने लाभ के लिए प्रयोग कर रहे हैं। नये कृषि सुधार कानून से किसानों को आर्थिक स्वतंत्रता के साथ समृद्धि आय में वृद्धि और उनकी बिचौलियों से न सिर्फ मुक्ति सुनिश्चित करेंगे,बल्कि यह कानून किसानों के जीवन व उन्हें कृषि उत्पादों की बेहतर आय दिलाने एवं एक सरल विवाद निवारण व्यवस्था उपलब्ध करवाता है।जहाँ किसान किसी भी विवाद में सब डिविजनल मजिस्ट्रेट के पास जा सकते हैं। जो कानून लंबी चर्चा के बाद संसद से पारित विधेयक से अस्तित्व में आये, उन्हें सीधे रद्द करने की जिद पर अडना भारत की जनता, संसद और लोकतंत्र का अपमान है। कांग्रेस ,तृणमूल, राजद, सपा, सीपीएम सहित अन्य विपक्षी पार्टियां अगर इस कानून का विरोध कर रही हैं, तो देश उन्हें माफ नहीं करेगा।