एआईएसएफ का पीपीयू पर रोषपूर्ण प्रदर्शन, देर शाम तक बंधक बने रहे!

पटना(न्यूज़ क्राइम24): राजभवन के आदेश का पालन करते हुए बीएड की परीक्षा लेने की माँग को लेकर आज पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय मुख्य द्वार पर एआईएसएफ के बैनर तले छात्रों का रोषपूर्ण प्रदर्शन हुआ।प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राएं पिछले दिनों वादे के बावजूद कुलपति से वार्ता नहीं होने पर आक्रोशित थे। प्रदर्शन एक बजे शुरू हुआ।अधिकारी एक-एक कर वार्ता के लिए भी पहुँचे लेकिन कोई मुकम्मल वार्ता नहीं होने से छात्र-छात्राएं गेट पर डटे रहे।पीपीयू कुलसचिव जितेन्द्र कुमार, डीएसडब्ल्यू के. के. सिंह एवं प्रॉक्टर मनोज कुमार विश्वविद्यालय गेट पहुँचे और गेट पर खड़े-खड़े वार्ता किए। वार्ता में शामिल एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार ने कहा कि कुलपति द्वारा वार्ता नहीं कर पाना दुःखद है। 28 जनवरी,2020 को हीं राजभवन ने परीक्षा लेने का निर्देश दिया था और पुनः 22 अक्टूबर को भी दिया।कुलपति ने फोन पर बातचीत में भी परीक्षा लेने के संबंध में पर्याप्त पत्र मिलने की बात कही थी।लेकिन परीक्षा लेने में टालमटोल उचित नहीं है।

सभी अधिकारियों ने विश्वविद्यालय द्वारा पुनः राजभवन को पत्र भेज निर्देश की बात कही।प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं ने गेट पर बैठक कर कल शाम तक कुलपति द्वारा वार्ता नहीं करने पर 3दिसंबर,गुरुवार को उग्र आंदोलन की चेतावनी दिया।पौने छह बजे गेट से विद्यार्थी हटे,तब जाकर अधिकारी व कर्मी घर जा पाए।प्रदर्शन में एआईएसएफ नेता मनीष कुमार,राहुल कुमार, सुमन कुमार, स्वीटी कुमारी, धीरज कुमार, अर्चना कुमारी, सत्यम कुमार,अंजली कुमारी,मिथुन कुमार,रूपा कुमारी, रजनीश कुमार, प्रियंका कुमारी, सुरेंद्र कुमार, अभिषेक कुमार, मृदुल रंजन, प्राची कुमारी, रूपेश कुमार यादव, ज्योति कुमारी सहित दर्जनों विद्यार्थी मौजूद थे।