अपराधियों के भय से त्राहिमाम कर रहा है बिहार!

पटना: बिहार सरकार बार-बार अपराध की घटनाओं पर पर्दा डालती है, मगर अपराध चिंघाड़ते हुए प्रदेश की सड़कों पर तांडव कर रहा है। बिहार में अपराधियों का बोलबाला चरम पर है हालात यह है कि हर दिन प्रदेश के किसी न किसी कोने में रेप, हत्या, लूट या निडर पत्रकारों के साथ मारपीट की घटनाएं सामने आ रही है.

आम आदमी पार्टी बिहार के प्रदेश प्रवक्ता बबलू प्रकाश ने कहा कि पूरे बिहार में क़ानून व्यवस्था बिगड़ चुकी है और अपराधियों का बोलबाल हो गया है। सुशासन की सरकार बिहार की जनता को हर रोज बलात्कारियों व हत्यारों के हवाले करती नजर आ रही है। अपराधियों के दुस्साहस से आम लोग भय के साये में जीने को मजबूर हो रहे हैं। पटना से लेकर जमुई,फारबिसगंज समेत पूरा बिहार अपराधियों के भय से त्राहिमाम कर रहा है। अब तो बिहार के लोगों को लगने लगा है कि पुलिस पर मुखिया नीतीश कुमार के फऱमान का भी कोई असर नहीं हो रहा.

पटना के खगौल में बेखौफ अपराधियों ने घर में घुसकर दानापुर रेल मंडल के लोको पायलट को गोलियों से भून दिया। फारबिसगंज में दबा व्यवसायी पवन केडिया की गोली मारकर हत्या कर दी। जमुई जिले के कोल्हाना पँचायत के पूर्व मुखिया निरंजन सिंह को गोलियों से छलनी कर दिया। सहरसा में कोचिंग में पढ़ने जा रहे छात्र को अज्ञात अपराधियों ने गोली मार दिया। पुलिस प्रशासन अपराध और अपराधियों पर अंकुश लगाने में पूरी तरह से विफल साबित हो चुकी है.

बबलू ने कहा- बिहार में अपराधियों का काला धंधा खूब फलफूल रहा है। शराबबंदी का ढोल पीटने वाली बिहार सरकार का सिस्टम संगठित अबैध शराब कारोबारियों को शराब का कारोबार करने का छूट दे रखा है। जिसका नतीजा यह है कि शहर के मोहल्लों से लेकर गांव के गलियों तक धरल्ले से शराब बिक रही है। शराबी, शराब के नशे में जदयू कार्यालय के गेट पर नौटकी करते नजर आ रहे हैं। वहीं, बिहार पुलिस शराब की कुछ बोतलें बरामद कर अपना पीठ थपथपा रही है और सूबे की जनता के दिल में सत्ता का डर पैदा करने की कोशिश कर रही है।