बिहार

अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया!

Advertisements
Ad 4

पटना(न्यूज़ क्राइम24): आज 48000 रुपये जुर्माना राशि की हुई वसूली, 44 होर्डिंग बैनर, पोल , रैंप, दुकान हटाए गए। इसमें सड़क पर से अतिक्रमित संरचना को हटाया गया तथा सड़क पर आगे बढ़े दुकानों को भी हटाया गया।इस अभियान के तहत सड़क पर वाहन परिचालन में आ रही बाधाओं के तहत अस्थाई संरचना को हटाया गया। काफी संख्या में रैंप, बांस बल्ला भी हटाए गए। 28 नवंबर से 3 दिसंबर तक चला अतिक्रमण हटाओ अभियान जिसमें ₹375950 जुर्माना राशि की हुई वसूली, 2 अस्थाई संरचना, 30 अस्थाई अतिक्रमण हटाए गए।

14 सितंबर से 2019 से अब तक अतिक्रमण के विरुद्ध अभियान के तहत ₹26220350 की हुई वसूली, 165 प्राथमिकी ,1863स्थायी संरचना ,3697 अस्थाई संरचना हटाए गए।अवैध पार्किंग से 11633000 रुपए की हुई है वसूली।

पाटलिपुत्र कंकड़बाग एवं नूतन राजधानी अंचल में तीन टीमों के द्वारा चला अभियान। नतन राजधानी अंचल के न्यू मार्केट एरिया।पाटलिपुत्र अंचल के बोरिंग रोड चौराहा से राजापुर पुल तक।कंकड़बाग अंचल के कंकड़बाग टेंपो स्टैंड से बिहार राज्य आवास बोर्ड ।मलाही पकड़ी चौराहा पर रेन बसेरा के पीछे नेचर केयर फाउंडेशन तक तथा डॉक्टर्स कॉलोनी फल मंडी के पास अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई है।

Advertisements
Ad 2

पटना जंक्शन के समीप मल्टी लेवल पार्किंग के पास डीएम ने खुद किया नेतृत्व। इस क्रम में जिलाधिकारी ने अधिकारियों की टीम के साथ पटना स्टेशन के समीप मल्टी लेवल पार्किंग के पास अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जिसमें अतिक्रमित सड़क को मुक्त कराया गया तथा दुकानों को भी हटाया गया।

अतिक्रमण से मुक्त कराने के उपरांत खाली भूमि के समुचित उपयोग हेतु चरणबद्ध तरीके से प्लान बनाने का निर्देश दिया गया। इसके लिए नूतन राजधानी अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी को कार्य योजना तैयार कर प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया। आयुक्त पटना श्री संजय कुमार अग्रवाल ने डीएम एवं एसएसपी/ एसपी को नगर निगम, जिला प्रशासन एवं पुलिस बल के बीच समन्वय स्थापित कर चरणबद्ध तरीके से अतिक्रमण अभियान को तेज करने का निर्देश दिया।

Related posts

के सोनमा पंचायत में कांग्रेस प्रत्याशी अंशुल अभिजीत के समर्थन में तेजस्वी और दीपांकर भट्टाचार्य की जनसभा

10 साल से प्रधानमंत्री और स्थानीय पाटलिपुत्र के सांसद से जनता त्रस्त : मिसा भारती

मरीजों के निबंधन से लेकर जांच व इलाज संबंधी जानकारी भव्या एप पर करायें दर्ज : सिविल सर्जन