पीड़िता ने स्थानीय पुलिस प्रशासन पर लगाया गंभीर आरोप, आरोपी को बचाने का प्रयास

 पीड़िता ने स्थानीय पुलिस प्रशासन पर लगाया गंभीर आरोप, आरोपी को बचाने का प्रयास
Advertisement
Ad 3
Advertisement
Ad 4
Digiqole Ad

अररिया(रंजीत ठाकुर): अररिया जिले के भरगामा थाना क्षेत्र के पैकपार गांव के वार्ड संख्या (12) में बीते दिनों शर्मसार करने वाली घटना सामने आया था।बता दें की 26 सितंबर सोमवार को महिला के साथ उसके ही परिवार के लोगों ने घृणित अपराध किया था। सुनकर रुह कांप जाएगा। 28 वर्षीय रंजन देवी पति पप्पू सिंह को उसके सास-ससुर व परिवार के अन्य लोगों ने नग्न अवस्था में जमकर पिटाई किया था। दरअसल, महिला पर डायन होने का आरोप लगाकर पहले पीटा गया। इतने से भी परिवार वालों का मन नहीं भरा तो महिला को निर्वस्‍त्र कर तब तक पीटा जब तक कि वह बेहोश न हो गई। बचाने गए पति पप्पू सिंह को भी बुरी तरह जान से मारने की नीयत से मारकर पति पत्नी दोनों को अलग-अलग कमरे में घंटों बंद रखा।

Advertisement
GOLU BHAI
Advertisement
MS BAG

इस घटना का कथित वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।क्या कहते हैं पीड़ित पप्पू सिंह, आइए जानते हैं।इस बाबत प्रेस वार्ता कर पप्पू सिंह ने बताया कि उनकी पत्नी रंजन देवी को डायन बताकर मेरे ही परिवार वालों ने अर्धनग्न कर जान से मार देने की नियत से मारपीट करने लगे पत्नी को बचाने गए तो सभी ने मुझे पकड़कर लोहे की रॉड से पीटा। जब मैं और मेरी पत्नी बेहोश हो गए उसके बाद अलग-अलग कमरों में बंद करके मुख में कपड़ा डालकर छोड़ दिया। घंटों बाद जब मुझे होश आया तो प्यास के कारण हम छटपटा रहे थे तब जाकर पानी पिलाकर मुझे फिर से लोहे की रॉड से पीटने लगे। पीटते पीटते अधमरा कर छोड़ दिया, यहां तक की मेरा बाया पैर को भी आरोपियों ने तोड़ डाला। आसपास के ग्रामीणों की सूचना पर भरगामा थाना पुलिस मेरे घर पर आई और पूछताछ करने लगी। आरोपीयों ने कहा- यहां कोई घटना नहीं हुई है।

Advertisement
Ad 2

पुलिस वापस लौट गई। पुलिस के जाने के बाद करीब शाम 7:00 बजे आरोपियों ने मुझे और मेरी पत्नी को अस्पताल पहुंचा दिया और फरार हो गए, जहां डॉक्टर ने प्राथमिक इलाज के बाद अररिया के लिए रेफर कर दिया। घटना के बाद पुलिस ने दो आरोपी को गिरफ्तार किया था और उसे थाना भी ले गए थे।मुझे अररिया भिजवा कर दोनों आरोपी से सांठगांठ कर उसे थाने से ही छोड़ दिया गया है।क्या कहती है पीड़िता रंजन देवी आइए जानते हैं।पीड़िता ने बताया घटना के 8 दिन बीत जाने के बावजूद पुलिस के द्वारा कोई कार्यवाही अब तक नहीं किया गया है जबकि मैं अपने घर छोड़ पूरे परिवार के साथ अपने रिश्तेदार के यहां रह रही हूँ क्योंकि मेरे घर पर मेरे जान को खतरा था और यहां भी मुझे आरोपियों के द्वारा जान से मार देने की धमकी मिल रही है।

मैं आज मीडिया के माध्यम से सरकार और वरीय पुलिस प्रशासन से गुहार लगा रही हूँ, कि मुझे न्याय दिलावें।क्या कहते हैं समाजसेवी पप्पू कुमार आइए जानते हैं।इस बाबत समाजसेवी पप्पू कुमार ने बताया कि यह घटना पूरे समाज को शर्मसार करने वाली है, घटना में संलिप्त आरोपियों को पुलिस को चाहिए कि जल्द से जल्द गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही करें। अगर ऐसा नहीं होता है तो हम लोग वाध्य होकर आंदोलन भी करेंगे और इसकी जानकारी बिहार सरकार से लेकर पुलिस के वरीय अधिकारी डीजीपी महोदय से भी मिलकर सारी घटना से अवगत कराएंगे।

Digiqole Ad

न्यूज़ क्राइम 24 टीम

Related post

error: Content is protected !!