11 साल की मासूम ने सही कुकर्म पीड़ा, सुबकुछ भूलने के लिए सीडब्ल्यूसी को साैंप दी बच्ची!

धनबाद(न्यूज़ क्राइम24): केंदुआ की 11 साल की दुष्कर्म पीडि़ता ने एक नन्ही परी को जन्म दिया है। मां और बच्ची दोनों स्वस्थ हैं। पर सामाजिक दबाव के कारण बच्ची को साथ रखने के बजाय चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के हवाले कर दिया। कमेटी ने बच्ची को होप हाउस भेज दिया है। अब उसका नया घर वही होगा। 60 दिनों के बाद कमेटी बच्ची को लीगल फ्री करेगी। इसके बाद उसे गोद देने की प्रक्रिया शुरू होगी।

क्या है मामला-

केंदुआडीह थाना क्षेत्र के 70 साल के राशन दुकानदार यमुना पासवान ने इस मासूम के साथ हैवानियत की थी। 27 जून को पीडि़ता के भाई ने मामले की शिकायत केंदुआडीह थाने में की थी। बताया था कि बच्ची दुकान में राशन लेने गयी थी। उसी समय दुकानदार ने उसके साथ दुष्कर्म किया। मामला बढऩे पर पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया। उसे जेल भेज दिया गया। इस मामले में पीडि़ता का चाइल्ड वेलफेयर कोर्ट में भी बयान हुआ था। जहां उसने नशे की शरबत पिलाकर कई बार गलत करने की बात कही थी। इस बीच उसके गर्भवती होने की बात का भी खुलासा हो गया था। काफी वक्त बीत जाने के कारण मेडिकल टीम ने गर्भपात की अनुमति नहीं दी थी। पीडि़ता अपने परिवार के साथ ही रह रही थी। अब उसने पीएमसीएच में बच्ची को जन्म दिया।

पीडि़ता के परिजन छोटी बच्ची को हैंड ओवर करने आए थे। सारी प्रक्रियाएं पूरी कर बच्ची को होप हाउस भेज दिया गया। पीडि़ता को घरवालों की रजामंदी से उनके साथ जाने की अनुमति दी गई। -देवेंद्र शर्मा, सदस्यलिए सीडब्ल्यूसी को साैंप दी बच्ची केंदुआडीह थाना क्षेत्र के 70 साल के राशन दुकानदार यमुना पासवान ने बच्ची से हैवानियत की थी।

धनबाद केंदुआ की 11 साल की दुष्कर्म पीडि़ता ने एक नन्ही परी को जन्म दिया है। मां और बच्ची दोनों स्वस्थ हैं। पर सामाजिक दबाव के कारण बच्ची को साथ रखने के बजाय चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के हवाले कर दिया। कमेटी ने बच्ची को होप हाउस भेज दिया है। अब उसका नया घर वही होगा। 60 दिनों के बाद कमेटी बच्ची को लीगल फ्री करेगी। इसके बाद उसे गोद देने की प्रक्रिया शुरू होगी।

क्या है मामला केंदुआडीह थाना क्षेत्र के 70 साल के राशन दुकानदार यमुना पासवान ने इस मासूम के साथ हैवानियत की थी। 27 जून को पीडि़ता के भाई ने मामले की शिकायत केंदुआडीह थाने में की थी। बताया था कि बच्ची दुकान में राशन लेने गयी थी। उसी समय दुकानदार ने उसके साथ दुष्कर्म किया। मामला बढऩे पर पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया। उसे जेल भेज दिया गया। इस मामले में पीडि़ता का चाइल्ड वेलफेयर कोर्ट में भी बयान हुआ था। जहां उसने नशे की शरबत पिलाकर कई बार गलत करने की बात कही थी। इस बीच उसके गर्भवती होने की बात का भी खुलासा हो गया था। काफी वक्त बीत जाने के कारण मेडिकल टीम ने गर्भपात की अनुमति नहीं दी थी। पीडि़ता अपने परिवार के साथ ही रह रही थी। अब उसने पीएमसीएच में बच्ची को जन्म दिया।पीडि़ता के परिजन छोटी बच्ची को हैंड ओवर करने आए थे। सारी प्रक्रियाएं पूरी कर बच्ची को होप हाउस भेज दिया गया। पीडि़ता को घरवालों की रजामंदी से उनके साथ जाने की अनुमति दी गई।देवेंद्र शर्मा, सदस्य