11 बजे तक ओपीडी से गायब थी महिला चिकित्सक, जांच के लिए पहुंचे सीएस!

जमुई(मो० अंजुम आलम): एक ओर सदर अस्पताल चिकित्सक की भारी कमी का दंश झेल रहा है तो दूसरी ओर ड्यूटी पर तैनात महिला चिकित्सक भी ड्यूटी से गायब रहते हैं। नतीजतन इलाज के लिए आए मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इलाज के लिए आई अधिकांश गर्भवती महिलाओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसी तरह मंगलवार को भी महिला ओपीडी से चिकित्सक डॉ. स्वेता सिंह के ड्यूटी से गायब रहने के बाद मरीजों के साथ आए स्वजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। मरीजों द्वारा इसकी सूचना सिविल सर्जन को दी गई। उसके बाद सदर अस्पताल के महिला ओपीडी पहुंचकर सिविल सर्जन ने स्थिति का जायजा लिया और मरीजों की भीड़ को देख डिस्टेंस बनाकर खड़े रहने की हिदायत दी। साथ ही फर्जी आशा कार्यकर्ता व सदर अस्पताल में घूम रहे बिचौलियों को भी जमकर फटकार लगाया और बिचौलियों को सदर अस्पताल से बाहर का रास्ता दिखाया। उसके बाद सिविल सर्जन द्वारा महिला चिकित्सक डॉ.श्वेता सिंह को अविलंब ओपीडी में आकर मरीजों का इलाज करने का निर्देश दिया गया। महिला चिकित्सक डॉ. श्वेता सिंह ने बताई कि वह किसी काम को लेकर डीएस कार्यालय में थी। सिविल सर्जन के निर्देश के बाद फौरन महिला चिकित्सक ओपीडी में आई और कतारबद्ध मरीजों का बारी-बारी से इलाज किया। इस मौके पर सिविल सर्जन डॉ विजेंद्र सत्यार्थी ने बताया कि कार्य में लापरवाही बरतने वाले लोगों को बख्शा नहीं जाएगा और दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने स्वास्थ्य कर्मियों को भी इमानदारी पूर्वक कार्य करने की सख्त हिदायत दी। इसके अलावा सदर अस्पताल में घूम- घूम कर मौजूदा हालात का भी जायजा लिए। इस मौके पर अस्पताल प्रबंधक रमेश कुमार के अलावा अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।