स्वतंत्रता दिवस के लिए दिल्ली पुलिस की तैयारी, आतंकवादियों से निपटने के लिए ये किए इंतजाम

नई दिल्ली(न्यूज़ क्राइम 24): कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों के कारण देशवासियों के मन में ये सवाल उठ रहा है कि इस साल स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाया जाएगा। इस बीच गृह मंत्रालय ने एक एडवायजरी जारी करते हुए सभी राज्यों से स्वतंत्रता दिवस पर सामूहिक आयोजनों से बचने की सलाह दी है.

दिल्ली पुलिस कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव का कहना है कि स्वतंत्रता दिवस के लिए ऐसी सुरक्षा व्यवस्था की गई है, जो ड्रोन और माइक्रोलाइट विमान जैसी हवाई वस्तुओं के खतरों से निपटने में सक्षम है। उन्होंने कहा “हमने सार्वजनिक सहयोग मांगा है ताकि किसी भी आतंकवादी हमले को शुरू होने से पहले ही रोका जा सके।

केन्द्र सरकार ने राज्यों से कहा है कि इस बार जितने भी कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, उनमें सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए जितने भी कोरोना वॉरियर्स हैं। जैसे डॅाक्टर्स, पुलिस अधिकारी, उन्हें आमंत्रित किया जाना चाहिए। गृह मंत्रालय ने कोरोनावायरस से निजात पा चुके रोगियों को भी समारोह में आमंत्रित करने का सलाह दी है।

चूंकि बढ़ती महामारी के कारण ज्यादा संख्या में लोगों को कार्यक्रम में एकत्रित नहीं किया जा सकता है, इसलिए इस बार स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हुए इस प्रकार से कार्यक्रम को प्रसारण किया जाएगा ताकि एक साथ ज्यादा से ज्यादा लोगों को एक साथ समारोह से जोड़ा जा सके।

इस बार के स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम की थीम का ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने सोशल मीडिया के जरिए कर सकते हैं। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बार आत्मनिर्भर भारत (Self Reliable India) को

स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के थीम के रूप में चुना जा सकता है। एडवायजरी में बताया गया कि इस साल भीड़भाड़ वाले कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा।

गृह मंत्रालय ने इस वर्ष कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्यों को सावधानी बरतने के लिए भी कहा गया है जिसमें सोशल डिस्टेंसिग बनाए रखना, मास्क पहनना, उचित स्वच्छता, बड़ी सभाओं से बचना, कमजोर व्यक्तियों की रक्षा करना और स्वास्थ्य और गृह मंत्रालय द्वारा जारी सभी COVID-19 के दिशानिर्देशों का पालन करना शामिल है।