सुशील मोदी ने चुनावी सभा को किया संबोधित, भाजपा प्रत्याशी को जीत दिलाने का किया अपील!

नवादा(अवध भारती): जिले के वारिसलीगंज विधानसभा क्षेत्र से एनडीए के भाजपा प्रत्याशी निवर्तमान विधायक अरूणा देवी के पक्ष में चुनाव प्रचार करने पहुंचे सूबे के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने स्थानीय माफी गढ़ के मैदान पर चुनावी सभा को संबोधित करते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के द्वारा किये गये कार्यो एवं उपलब्धियों को गिनाते हुये भाजपा प्रत्याशी को वोट करने की अपील किया. उन्होनें कहा कि राजद के 15 वर्षो के शासन काल में बिहार की क्या स्थिति थी वह आपसे छुपा नही है। आज पुरे बिहार में बिजली की व्यवस्था शहर से लेकर गांव तक की गयी है। मुख्यमंत्री ने सुबे के प्रत्येक घरों में बिजली पहुंचाने का जो वादा किया था उन्होनें पुरा कर दिया है। केन्द्र सरकार एवं बिहार सरकार ने बिहार में विकास में इतिहास रच दिया है। उन्होनें कहा कि कोरोना काल में बिहार सरकार ने 48 हजार करोड़ रूपये खर्च कर प्रवासी मजदूरों को बिहार लाकर उन्हें रोजगार से जोड़ने का कार्य किया.

केंद्र एवं बिहार सरकार के विकास कार्यो की विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि देश में लॉक डाउन के दौरान प्रधानमंत्री ने 2 करोड़ 38 लाख महिलाओं के बैंक खाते में राशि भेजने के साथ ही 35 हज़ार करोड़ से ज्यादा गरीब लोगो को सस्ते एवं मुफ्त राशन उपलब्ध करवाया गया है। जबकि धारा 370 की समाप्ति हो या अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण बहुत ही सरल ढंग से मोदी ने हर कार्य को मुमकिन बना डाला. अपने निर्धारित समय पर सभा स्थल पर पहॅुचे डिप्टी सीएम एवं भाजपा के विधान पार्षद सम्राट चौधरी ने अपने संबोधन में बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार बनाने के लिये भाजपा प्रत्याशी अरूणा देवी को वोट करने की अपील किया। उन्होनें प्रत्याशी अरूणा देवी के समर्थन में लोगों से नारे लगवाते हुये जीत की माला समर्पित की । प्रत्याशी अरूणा देवी ने डिप्टी सीएम को प्रजाजंत्र द्वार का प्रतीक चिन्ह भेंट कर उनका स्वागत किया.

मौके पर पूर्व जिला पार्षद अखिलेश सिंह, भाजपा प्रखंड अध्यक्ष बम बम सिंह, अनिल मेहता, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय कुमार मुन्ना, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष विनय सिंह, जिला पार्षद अंजनी कुमार, उप प्रमुख रवि देवी, श्रवण सिंह, मुखिया संघ के प्रखंड अध्यक्ष गौतम कुमार, मुखिया राजकुमार सिंह, नागेंद्र राम सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजुद थे।