सावन का पहला सोमवारी आज, ऐसे करे भगवान शिव की पूजा!

न्यूज़ क्राइम 24 डेस्क:  सावन का पहला सोमवार 6 जुलाई यानी आज से आरंभ हो चुका है. इस दिन से सावन का महीना शुरू हो जाएगा. सावन का महीना चातुर्मास मास का प्रथम महीना होता है. सावन का महीना भगवान शंकर को समर्पित है. सावन में सोमवार के व्रत और भगवान शिव का अभिषेक करने से सभी प्रकारों के कष्टों से मुक्ति प्रदान करने वाला माना गया है.

महिलाएं ऐसे करें शिव की पूजा-

इस वर्ष श्रावण का पहला दिन 06 जुलाई सोमवार को सूर्य के नक्षत्र उत्तराषाढ़ में पड़ने से और भी शुभ हो गया है। सुहागिन महिलाओं को इस दिन माँ पार्वती को श्रृंगार हेतु मेहंदी चढ़ानी चाहिए। पुरुषों को पंचामृत, दूध, दही, घी, शहद और शक्कर से स्नान कराकर बेलपत्र पर अष्टगंध, कुमकुम, अथवा चन्दन से राम-राम लिखकर ॐ नमः शिवाय करालं महाकाल कालं कृपालं ॐ नमः शिवाय’ कहते हुए शिवलिंग पर अर्पित करना चाहिए। इसके अतिरिक्त भांग, धतूर बेलपत्र, मंदार पुष्प तथा गंगाजल भी अर्पित हुए ‘काल हरो हर, कष्ट हरो हर, दुःख हरो, दारिद्र्य हरो, नमामि शंकर भजामि शंकर शंकर शंभो तव शरणं।मंत्र से प्रार्थना करनी चाहिए।

शिवलिंग पर यह चीज़ चढ़ाने के फायदे-

प्रतिदिन शिवलिंग पर बेलपत्र चढाने से व्यापार और सामाजिक प्रतिष्ठा बढती है। भांग अर्पण से प्रेत बाधा तथा चिंता दूर होती है। मंदार पुष्प से नेत्र और ह्रदय विकार दूर रहतें हैं। शिवलिंग पर धतूर के पुष्प तथा फल अर्पण करने से विषैले जीवों से खतरा समाप्त होजाता है। शमी पत्र चढ़ाने से शनि की शाढेसाती, मारकेश तथा अशुभ ग्रह-गोचर से हानि नहीं होती ! इसलिए श्रावण के एक-एक क्षण का सदुपयोग करें त्रिबिध तापों से मुक्ति पाएं।

इस बार सावन में पड़ने वाले सोमवार-

इस बार सावन में पड़ने वाले सोमवार 6 जुलाई, 13 जुलाई, 20 जुलाई 27, जुलाई और 3 अगस्त को हैं. बता दें कि 3 अगस्त को ही इस बार रक्षाबंधन है, इसके अलावा इस माह में 7 जुलाई को मंगला गौरी पर्व, 10 जुलाई को मोनी पंचमी, 16 जुलाई को एकादशी व्रत और 18 जुलाई को प्रदोष व्रत है।