सावधान! गुजरात से फर्जीवाड़ा में फंस रहे हैं बिहार के लोग!

पटना(अजित यादव): इन दिनों लॉक डाउन का फायदा उठाते हुए रोजगार और काम देने के नाम पर कई फर्जी कंपनियां इंटरनेट पर विज्ञापन के माध्यम से ऑनलाइन लूट मचा रखी है ऐसा ही एक वाक्या (ऑनलाइन ठगी)  पिछले दिनों शास्त्री नगर थाने के राजा बाजार के रहने वाले इंजीनियरिंग का छात्र दीपक के साथ हुआ. दीपक ने बताया कि ओ एल एक्स (olx) पर ऑनलाइन डाटा एंट्री ऑपरेटर का काम देने का विज्ञापन प्रोमटीलाइट टेक्नोलॉजी के नाम पर था जब दीपक ने काम के संबंध में संपर्क किया तो 650 फार्म भरने पर उन्हें ₹18000 देने का वादा किया गया । दीपक पूरा फॉर्म भरकर कंपनी को भेजा । उसके बाद कंपनी के लोगों ने बताया कि पहले ₹5000 रजिस्ट्रेशन का भेज दीजिए फिर बाकी रकम हम आपके खाते में डाल देंगे ₹5000 लेने के बाद जब दीपक अपने परिश्रमिक की मांग किया तो बोला कि अब ₹14000 n.o.c. का भी भेजो अन्यथा तुम्हें कोर्ट का नोटिस भेजा जाएगा और उसके बाद जेल में डाला जाएगा।घबराए दीपक के परिजन थाने में संपर्क किया तब शास्त्री नगर थानेदार विमल इंदु कुमार ने बताया कि लॉकडाउन में ऐसा बहुत सारा ठगी का खेल चल रहा है उसके धमकी में मत आइए , आगे से सावधान रहिए।इस बाबत दीपक ने बताया कि वह कंपनी  प्रोमटीलाइट टेक्नोलॉजी, सुमित्रा कॉलोनी निराला बाजार ,औरंगाबाद ,महाराष्ट्र के पते पर है और फोन करने वाला व्यक्ति का मोबाइल नंबर 6356895079 (नाम अरुण) 7046483821, 7046433821 यह सभी नंबर गुजरात का बताता है।मतलब मुंबई में कंपनी का पता और मोबाइल नंबर गुजरात का और यह सभी इस तरह का ऑनलाइन धंधा को बिहार और अन्य प्रदेशों के युवा युवतियों को अपने जाल में फंसा कर और कोर्ट का नोटिस की धमकी देकर फंसा ले रहे हैं।दीपक ने पैसा रखने वाले व्यक्ति जिसके अकाउंट में पैसा भेजा है उसका नाम डाबर वाला साहिल है उसका अकाउंट नंबर 918866468802 है और IFSC कोड PYTM0123456 है।दीपक ने अपनी आपबीती बताते हुए बिहार सरकार से इस दिशा में पहल कर उचित कार्रवाई की मांग की है ताकि जालसाजी के इस धंधे में बिहारी युवाओं को गुजरात के फर्जी कंपनियां बनाए ठग लोगों से लुटने से बचाया जा सके।