साजिश के तहत पुत्र व् भतीजे एफआईआर दर्ज़, मैं विचलित होने वाला नही : विधायक

बलिया(संजय कुमार तिवारी): मेरे बेटे व भतीजे को षड्यंत्र करके फर्जी मुकदमा दर्ज कराने से मैं विचलित होने वाला नहीं हूं। चाहे पूरा जीवन जेल में बीत जाय, द्बाबा में अनाचारी, अत्याचारी व भ्रष्टाचारियों का विरोध पूरे दमखम के साथ करता रहूंगा। किसी गरीब, कमजोर पर जुल्म नहीं होने दूंगा। उसके मान-सम्मान व उसके संपत्ति की रक्षा के लिए वह सब कुछ करूंगा जो मेरे लिए संभव है।
यह उद्गार बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह के हैं, जो बुधवार को बैरिया डाक बंगला में कार्यकर्ताओं की एक बैठक को संबोधित कर रहे थे।विधायक ने कहा कि जिसे मैंने बड़ा भाई कहा,जिसे यहां से जीताने के लिए जी-जान लगा दिया, वह आदमी षणयंत्र कर मेरे भतीजा व बेटे पर फर्जी एफआईआर करा रहा है। अगर मैं भी चाहता तो उनके पुत्र पर, उनके भाई पर एफआईआर दर्ज करा सकता था किंतु बड़ा भाई कहा है तो उनका पुत्र मेरा भतीजा हुआ।इसलिए मैं ऐसा गंदा काम नहीं कर पाऊंगा, यह मेरे संस्कार में नहीं है।जब तक जिंदा हूं उनके गलत कामों का विरोध करता रहूंगा,चाहे इसके लिए मुझे कोई भी कीमत क्यों न चुकानी पड़े।मैंने जनता की सेवा का संकल्प लेकर चुनाव लड़ा था, साइकिल पर चलने वाले व्यक्ति को यहां के लोगों को विधायक बना दिया, तो मैं अपने संकल्प से विचलित कैसे होऊंगा।कार्यकर्ताओं की मान-सम्मान के साथ मैं खिलवाड़ नहीं होने दूंगा क्योंकि वही मेरी पूंजी है। मैं जो कुछ भी हूं उन्हीं के बदौलत हूं। विदित है कि सोमवार को बैरिया तहसील में राशन की दुकान के विवाद में हुई मारपीट में नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि शिवकुमार वर्मा मंटन सहित नौ लोगों पर विभिन्न धाराओ में मुकदमा दर्ज हुआ था।जिसके बाद दूसरे पक्ष से विधायक सुरेंद्र सिंह के पुत्र भतीजा व नौ अन्य लोगों पर तहरीर दी गई थी। जिसके विरोध में विधायक के समर्थक डाक बंगला में जुटे थे और पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराने की मांग कर रहे थे।उनका कहना था कि विधायक के पुत्र और भतीजा का इस घटना से दूर-दूर तक संबंध नहीं था।फिर भी राजनीतिक षडयंत्र के तहत उन पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दिया गया था। जिसपर आज विभिन्न धाराओं में राजनीतिक दबाव में मुकदमा दर्ज किया गया।