संपतचक में युवक को गोली से भून डाला!

फुलवारीशरीफ(अजीत यादव): होली के रंग में भंग डालते हुए पटना के संपतचक में दिन दहाड़े बदमाशो ने सिरपत पुर गांव में एक 22 साल के युवक को घर से बुलाकर गोलियों से भून डाला । होली के रंग और उमंग के बीच गोलियों की तड़तड़ाहट से इलाके में अफरा तफरी मच गई। होली पर इलाके में चाक चौबंद पुलीसिया बंदोबस्त को धत्ता बताते हुए बदमाशो ने यह हत्या की वारदात गोपालपुर थान से चंद कदम की दूरी पर अंजाम देकर पुलिस प्रशासन को खुली चुनौती दी है। गोलियों की तड़तड़ाहट थमने के बाद जब लोगो ने देखा पटना गया सड़क से थोड़ी ही दूर खेत मे इसी गांव के नागेश्वर राय के 22 साल के छोटे बेटे अनुज उर्फ कांटे खून से लथपथ पड़ा था। हत्या करने वाले का नाम इसी गांव के गोरख राय के पुत्र चोंचो़ बताया जा रहा है । चोचों ने कांटे को एक के बाद एक तीन गोलियां मारी और हत्या कर फरार हो गया। हत्या की वारदात सुनकर मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया वही गुस्साए ग्रामीणों ने शव के साथ ही संपतचक ब्लॉक के पास सिरपतपुर के सामने पटना मसौढ़ी जहानाबाद गया जाने वाली मुख्य हाइवे सड़क को जाम कर हो हंगामा करने लगे। घटना दिन में करीब डेढ़ से दो बजे की बताई जा रही है। हत्त्यारे कि तलाश में पुलिस टीम छापेमारी कर रही है। गोपाल पुर थानेदार आलोक कुमार आक्रोशित लोगों से सड़क जाम हटाने को कह रहे हैं लेकिन आक्रोशित परिजन व ग्रामीण पहले हत्त्यारे की गिरफ्तारी फिर सड़क जाम हटाने की मांग पर अड़ी हुई है। घटना से सिरपत पुर गांव में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है । हत्त्यारे का घर भी इसी गांव में है जिससे बदले को भावना में कोई अनहोनी न हो जाये भारी पुलिस फोर्स को मुस्तैद कर दिया गया है। ग्रामीणों के अनुसार अनुज उर्फ कांटे की हत्या करने वाला चोंचों पहले से ही बदमाश प्रवृति का ही युवक था। चोंचों पूर्व में एक बलात्कार और मारपीट मामले में जेल भी जा चुका था। चोंचों ने संपतचक के ही बैरिया की एक लड़की के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम देकर काफी दिनों तक जेल की हवा खा चुका है और दूसरी बार मारपीट के मामले में जेल जा चुका था। इस बार जेल से आने के बाद गांव के ही युवक कांटे की हत्या कर दिया। उसके परिवार के खिलाफ सिरपत पुर के ग्रामीणों का गुस्सा भड़क उठा है । वहीं कांटे हत्या का कारण अबतक साफ नही हो पाया है। पुलिस हत्या के कारणों कि पडताल भी कर रही है। सड़क जा कर हत्त्यारे की गिरफ्तारी की मांग कर रहे ग्रामीणों का कहना है गोपालपुर थाना से चंद कदम पर हत्या की वारदात दिन में सरेआम हो गयी और पुलिस कुछ नही कर सकी । गोलियों की तड़तड़ाहट थाना तक पहुंची फिर भी हत्त्यारे पुलिस की पकड़ से फरार कैसे हो गए। घटनास्थल पर पुलिस से ग्रामीणों की तीखी नोकझोंक भी हो गयी । लोगो के आक्रोश को देख पुलिस के कदम पीछे हट गए। सड़क जाम हटाने के लिए पुलिस समझाने बुझाने में जुटी है। होली के दिन ही गोली मार हत्या की सनसनीखेज वारदात से मृतक के परिवार में चीत्कार मचा है
पिता नागेश्वर राय माँ उर्मिला।देवी ,मृतक का बड़ा भाई मनोज कुमार,सहित उसकी चार बहनों का रोते रोते बुरा हाल हो रहा है।